अजलान शाह हॉकी टूर्नामेंट (Essay in Hindi - Azlan Shah Hockey Tournament) [ Current Affairs ]

()

प्रस्तावना: - भारतीय पुरुष हॉकी टीम सुल्तान अजलान शाह हॉकी टर्नामेंट के 6 से 16 अप्रैल तक चलने वाले 25वें संस्करण में अच्छे प्रदर्शन के साथ रियो ओलिंपिक के लिए भी अपनी तैयारियों को पुख्ता करने के इरादे से उतरने वाली है। आठ बार की ओलिंपिक स्वर्ण पदक विजेता भारतीय टीम यहां इस टूर्नामेंट (खेल प्रतियोगिता) में जापान के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेगी। भारतीय दल इसके बाद दल विश्व चैंपियन आस्ट्रलिया से भिड़ेगी। भारत को गत वर्ष 2015 में दिसंबर में हुए हॉकी विश्व लीग फाइनल्स (अंतिम) में कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था लेकिन टूर्नामेंट (खेल प्रतियोगिता) में उसे इस बार कई युवा खिलाडियों की क्षमता परखने और मैच के हिसाब से अपनी रणनीति को क्रियान्वयन करने का मौका मिलेगा।

कांस्यापदक: - भारत ने सरदास सिंह की कप्तानी में गत वर्ष कोरिया को हराकर टूर्नामेंट में तीसरा स्थान हासिल किया था। ओलिंपक के लिए टीम (समुह) चुने जाने से पहले कोच रोलैंट ओल्टमेंस ने इस बार समूह में कई युवा खिलाड़ियों को मौका दिया है, ताकि उनके क्षमता को परखकर उन्हें आगे के लिए समूह में शामिल किया जा सके।

कार्यक्रम: - टूर्नामेंट के कार्यक्रम निम्न हैं-

6 अप्रैल- पाकिस्तान वि. कनाडा, भारत वि. जापान और न्यूजीलैंड वि. मलेशिया।

7 अप्रैल- भारत वि. ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड वि. कनाडा और जापान वि. मलेशिया।

9 अप्रैल- जापान वि. कनाडा, न्यूजीलैंड वि. पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया वि. मलेशिया।

10 अप्रैल- जापान वि. न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया वि. पाकिस्तान और कनाडा वि. भारत।

12 अप्रैल- ऑस्ट्रेलिया वि. न्यूजीलैंड, भारत वि. पाकिस्तान और कनाडा वि. मलेशिया।

13 अप्रैल- न्यूजीलैंड वि. भारत, ऑस्ट्रेलिया वि. जापान और पाकिस्तान वि. मलेशिया।

15 अप्रैल-जापान वि. पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया वि. कनाडा और भारत वि. मलेशिया।

16 अप्रैल- 5 - 6 स्थान का मैच, 3 - 4 स्थान का मैच और अंतिम

कुछ प्रमुख मैच निम्नप्रकार से हैं-

7 अप्रैल- भारत वि. ऑस्ट्रलिया, न्यूजीलैंड वि. कनाडा और जापान वि. मलेशिया: -

अजलान शाह कप में जीत से शुरुआत करने वाली भारतीय टीम की अपने दूसरे ही मैंच में हार का सामना करना पड़ा। विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 5 - 1 से करारी शिकस्त दी। भारत ने जापान को 2 - 1 से हराया था। भारत को इस मुकाबले से अपने स्टार गोलकीपर पी. आर. श्रीजेश की कमी काफी खली जो इस टूर्नामेंट में नहीं खेल रहे हैं। भारत ने जापान के खिलाफ खराब फिनिंशिग दिखाई थी और वही सिलसिला ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी बरकरार रहा। ऑस्ट्रेलिया ने शुरुआत से ही दबदबा बनाया। पांचवें मिनट में पेनल्टी कार्नर हासिल कर लिया। ब्लेक गोवर्स को गोल में बदलकर ऑस्ट्रलिया को 1 - 0 की बढ़त दिला दी। खिलाड़ी सुनील तथा मनदीप के मूव पर भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिल गया। ड्रैग पिलकर रूपिंदर पाल सिंह ने इस पर गोल दाग कर भारत को बराबरी दिला दी। लेकिन इसी दौरान खिलाड़ी रूपिंदर को चोट लग गई। दोनों टीमों की बराबरी 12 मिनिट तक ही रही। मैच के 13वें मिनट में खिलाड़ी जैमी ड्‌वेयर के पुश को डेव वेटन ने गोल में बदला। ऑस्ट्रेलिया 2 - 1 से आगे हो गया। 20वें मिनट में एडवर्ड ओकेनडैन ने 108 किलोमीअर प्रति घंटे की रफ्तार का शॉट लगाते हुए ऑस्ट्रलिया के लिए तीसरा गोल किया। अर्थात ऑस्ट्रेलिया को 3 - 1 से आगे कर दिया। 26वें मिनिट में जैमी ड्‌वेयर के शानदार प्रयास पर साइमन ओरकार्ड ने गोल कर स्कोर छह मिनट बाद साइमन ओरकार्ड ने गोल कर स्कोर को 4 - 1 पहुंचा दिया। मैट गोड्‌स ने 53वें मिनट में गोल कर ऑस्ट्रेलिया की बढ़त 5 - 1 कर दी।

भारत का अगला मुकाबला कनाडा से होगा। भारतीय टीम पाकिस्तान से भिड़ेगी। अन्य मुकाबलों मलेशिया ने जापान को 4 - 3 से पराजित किया। रोमाचंक मुकाबले में मलेशिया की जीत के हीरो कप्तान रेजी रहीम रहे। एक अन्य मुकाबले में गत विजेता न्यूजीलैंड व कनाडा के बीच मुकाबला 3 - 3 या मैच 1 - 1 से बराबरी पर छूटा।

10 अप्रैल- जापान वि. न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया वि. पाकिस्तान और कनाडा वि. भारत: -

भारत ने गत चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया से मिली करारी हार के झटके से उबरते हुए कनाडा के खिलाफ 3 - 1 से जीत दर्ज की। इसके साथ ही भारतीय टीम ने सुलतान अजलान शाह कप हॉकी टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाने की अपनी उम्मीदों को भी कायम रखा है। सरदार सिंह की अगुवाई वाली भारतीय टीम की तीन मैचों में यह दूसरी जी है और वह छह अंकों के साथ 7 टीमों के इस टूर्नामेंट में तीसरे स्थान पर आ गई है।

भारत और कनाडा- भारत ने पिछली हार से उबरते हुए कनाडा के खिलाफ मैच में शानदार शुरुआत की और तीसरे ही मिनट में बढ़त हासिल कर ली। निकिन थिमैया ने रुपिंदर पाल सिंह के पास को डिफ्लेक्ट कर गोल किया और भारत को बढ़त दिलाई। हालांकि दूसरे क्वार्टर में कनाडा ने 24वें मिनट में 1 - 1 से बराबरी कर ली। कीगन परेरा ने भारतीय गोलकीपर हरजोत सिंह को छकाते हुए वह गोल किया। हालांकि इसके बाद कनाडाई टीम तीन पेनल्टी कार्नर को बना नहीं पाई।

भारतीय खिलाड़ियों ने तीसरे क्वार्टर में कनाडा पर दबाव बनाया और इसका फायदा उन्हें 41वें मिनट में पहले पेनल्टी कार्नर के रूप में मिला। हरमनप्रीत सिंह ने इसे गोल में बदलकर भारत को 2 - 1 की बढ़त दिला दी। मैच समाप्ति से तीन मिनट पहले तलविंदर सिंह ने भारत का तीसरा गोल करते हुए टीम को तीन अंक दिला दिए। भारत का अगला मुकाबला चिर प्रतिदव्ंदी पाकिस्तान से होगा।

ऑस्ट्रेलिया व पाकिस्तान- टूर्नामेंट के अन्य मुकाबलों में विश्व चैंम्पियन ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को 4 - 0 से मात दी, जबकि न्यूजीलैंड ने जापान को 4 - 1 से हराया। ऑस्ट्रेलिया तीन मैचों में 9 अंको के साथ तालिका में चोटी पर है, जबकि न्यूजीलैंड चार मैचों में 8 अंको के साथ दूसरे स्थान पर है। कनाडा चार मैचों में 4 अंकों के साथ चौथे स्थान पर है।

12 अप्रैल- ऑस्ट्रेलिया वि. न्यूजीलैंड, भारत वि. पाकिस्तान और कनाडा वि. मलेशिया-

भारत व पाकिस्तान-25वें सुल्तान अजलान शाह कप हॉकी टूर्नामेंट में भारत और पाकिस्तान का मुकाबला हुआ था। भारत अब तक टूर्नामेंट में दो मैच जीत चुकी है जबकि एक मैच में उसे पराजय का सामना करना पड़ा है। दूसरी ओर पाकिस्तान एक जीत और दो हार के साथ टूर्नामेंट में पिछड़ गई है। भारत इस टूर्नामेंट का पांच बार का विजेता और गत वर्ष का कांस्य पदक विजेता है। भारतीय टीम ने शुरुआती मैच में जापान को हराया लेकिन फिर उसे चैपिंयन ऑस्ट्रलिया के हाथों करारी शिकस्त झेलनी पड़ी थी। लेकिन पिछली हार से उबरते हुए भारत ने कनाडा के खिलाफ पिछले मुकाबले में 3 - 1 से जीत दर्ज कर ली जिससे निश्चित ही पाकिस्तान के खिलाफ उसके हौसले बुलंद दिखाई दे रहे हैं।

पाकिस्तान के खिलाफ सरदार सिंह की अगुवाई वाली भारतीय टीम का पलड़ा भारी माना जा रहा है। पाकिस्तान ने अभी तक केवल कनाडा को 3 - 1 से हराया है, जबकि उसे न्यूजीलैंड तथा ऑस्ट्रेलिया से हार झेलनी पड़ी है और वह तालिका में 6वें स्थान पर है। पाकिस्तान अब तक रियो ओलंपिक के लिए योग्यता भी हासिल नहीं कर पाई है।

भारत और पाकिस्तान की टीमें आखिरी बार एंटवर्प में एफआईएच हॉकी विश्व लीग सेमीफाइनल (उपांत) में एक दूसरे से भिड़ी थीं जिसमें मैच 2 - 2 से ड्रॉ रहा था। भारत टूर्नामेंट (खेल प्रतियोगिता) के सेमीफाइनल में पहुंचा था जबकि पाकिस्तान की टीम (समूह) आयरलैंड से हारकर ओलिंपक के लिए योग्यता हासिल नहीं कर सकी थी।

पूरा देश ही पाकिस्तान के खिलाफ मैच का इंतजार कर रही है। लेकिन मैं अपने खिलाड़ियों पर किसी तरह का दबाव नहीं चाहता हूं। मैं अपने खिलाड़ियों को यही समझा रहा हूं कि उन्हें इसे एक सामान्य मैच के तौर पर लेना चाहिए।

रोलैंट ओल्टमैंस, भारतीय टीम के कोच

हमारे लिए भारत के खिलाफ मैच बड़ा ही अहम होगा। जो भी टीम आक्रमण कर सकेगी उसे फायदा मिलेगा। हालांकि दोनों टीमों को मैदान पर अपनी रणनीतियों को लागू करने पर ध्यान देना होगा।

ख्वाजा जुनैद, पाक कोच

भारत ने पाकिस्तान को 5 - 1 से हराया है। भारत का इस जीत के साथ फाइनल (अंतिम में) पहुंचने का दावा मजबूत हुआ है। दूसरी ओर पाकिस्तान पदक की दौड़ से बाहर हो गया है। भारत की चार मैंचों में यह तीसरी जीत है और वह नौ अंको के साथ दूसरे स्थान पर आ गया है। भारत के पांच गोलों में से चार गोल मैदानी रहे है। यह मुकाबला उन दोनों टीमों के बीच था जिन्हे ऑस्ट्रेलिया से हार झेलनी पड़ी थी। पाकिस्तान को भी पदक होड़ में बने रहने के लिए यह मैच जीतना था लेकिन भारतीय खिलाड़ियों ने इस महामुकाबले में उम्मीद से बढ़कर प्रदर्शन करते हुए शानदार जीत हासिल की।

हर हाई प्रोफाइल (ऊंची व्यक्ति /वस्तु /छवि के वर्णन) के मुकाबले में पांच बार के चैपिंयन और गत वर्ष कांस्य पदक जीतने वाले भारत की शुरुआत जबरदस्त रही और मनप्रीत ने तीसरे ही मिनट में बाएं छोर से आगे बढ़ते हुए पीछे से जाकर टक्कर मारने से जोरदार शॉट (निशाना) लगाया। उसे गोलकीपर इमरान बट गोल में जाते हुए देखते रह गए। सातवें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर में पाकिस्तान के कप्तान इरफान ने अपनी समूह को बराबरी दिला दी। एस वी सुनील को 10वें मिनट में मनप्रीत से पास मिला और सुनील ने भारत को 2 - 1 की बढ़त दिलाने में कोई गलती नहीं की। पाकिस्तान ने भारत की मजबूत रक्षा पंक्ति को भेदने में कामयाब नहीं हो सके। सुनील ने 41वें मिनट में अपना दूसरा और भारत का तीसरा गोल दागकर स्कोर 3 - 1 कर दिया। तलविंदर ने 49वें मिनट में मोहम्मद रिजवान की भूल का पूरा फायदा उठाते हुए गेंद संभाली और रिवर्स फ्लिक से भारत का चौथा गोल दाग दिया। मैच के 54वें मिनट में मिले पेनल्टी कॉर्नर पर ड्रैग फ्लिकर रूपिंदर ने गोल (5 - 1) करते हुए पाकिस्तान का बचा खुचा संघर्ष समाप्त कर दिया।

टूर्नामेंट में 9 बार भारत ने पाक को हराया, 5 बार पाक जीता, 1 मैच रहा ड्रॉ में।

Medal Details - Hockey 2016

Medal Details - Hockey 2016

अंक तालिका

टीम

मैच

जीते

ड्रा

हारे

अंक

ऑस्ट्रेलिया

4

4

0

0

12

भारत

4

3

0

1

9

न्यूजीलैंड

5

2

2

1

8

कनाडा

5

1

2

2

5

मलेशिया

4

1

2

1

5

पाकिस्तान

4

1

0

3

3

जापान

4

0

0

4

0

13 अप्रैल- न्यूजीलैंड वि. भारत, ऑस्ट्रेलिया वि. जापान और पाकिस्तान वि. मलेशिया-

भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ 5 - 1 की जीत दर्ज की लेकिन अगले ही मैच में वह न्यूजीलैंड के हाथों 1 - 2 से हार गया। भारत यदि न्यूजीलैंड से मैच जीत जाता तो वह फाइनल में पहुंच जाता लेकिन अब उसे मलेशिया के खिलाफ अपने आखिरी मैच में हर हाल में जीत दर्ज करनी होगी। दूसरी ओर न्यूजीलैंड इस जीत के बावजूद अभी फाइनल में अपना स्थान सुरक्षित नहीं कर पाया है, उसे भी फाइनल की अपनी उम्मीदों के लिए भारत और मलेशिया के मैच के परिणाम का इंतजार करना होगा।

भारत को पहला पेनल्टी कॉर्नर दूसरे क्वार्टर में पांच मिनट बाद मिला लेकिन रुपिंदर पाल सिंह के शॉट को खिलाी डेवाने मैनचेस्टर ने गोल में जाने से रोक दिया। न्यूजीलैंड को भी इसी क्वार्टर में पेनल्टी कॉर्नर मिला और खिलाी केन रसेल ने शानदार अंदाज में गोल कर अपनी टीम को 1 - 0 की बढ़त दिला दी। रसेल की स्टिक से 28वें मिनट में लगे इस गोल के बाद भारत ने भी अपनी कोशिशें जारी रखीं और उसे सफलता आधे समय के बाद मिली। तलविंदर सिंह ने न्यूजीलैंड की गलती का लाभ उठाते हुए जबर्दस्त निशाना लगाया जिसे मनदीप सिंह ने डिफ्लेक्ट कर भारत को बराबरी दिला दी। न्यूजीलैंड ने 41वें मिनट में दूसरा गोल कर 2 - 1 की बढ़त हासिल कर ली। हरजोत सिंह ने पहले प्रयास को जरूरी विफल किया लेकिन निकोलस विल्सन ने बिना कोई गलती करते हुए गोल दागकर अपनी समूह को बढ़त दिलाई। भारत को आखिरी क्वार्टर (थोड़े समय बाद) में जरूर कुछ मौके मिले लेकिन उसके खिलाड़ी एक भी मौका बनाने में कामयाब नहीं हो सके।

भारत की पांच मैचों में यह दूसरी हार है और वह नौ अंको के साथ तालिका में तीसरे स्थान पर है। न्यूजीलैंड की छह मैचों में यह तीसरी जीत है और वह 11 अंको के साथ दूसरे स्थान पर आ गया है। यदि भारत अपना आखिरी मैंच जीतता है तो वह 12 अंकों के साथ अंतिम में पहुंच जाएगा जहां उसकी भिंडंत विश्व चैपिंयन ऑस्ट्रेलिया से होगी। ऑस्ट्रेलियाई टीम लगातार 5वीं जीत के साथ फाइनल में पहुंच चुकी है।

हार के बाद भी हम निराश नहीं हें। हम मलेशिया को हराने की हरसंभव कोशिश करेंगे। हमेे मौकों को बनाते आना चाहिए।

सरदार सिंह, कप्तान भारत

15 अप्रैल-जापान वि. पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया वि. कनाडा और भारत वि. मलेशिया-

भारतीय हॉकी टीम की अंतिम में पहुंचने की आखिरी उम्मीद है मलेशिया से जीत। पांच बार चैंपियंन और गत वर्ष कांस्य पदक जीत चुकी भारतीय टीम का मलेशिया के खिलाफ हाईवोल्टेज (उच्च स्तरीय) मुकाबला होगा। भारत ने इस खेल प्रतियोगिता में पाकिस्तान के अलावा जापान और कनाडा को भी हराया है। भारत का यह आखिरी समूह चरण मैच है और उसे 9 अंक हैं। जबकि न्यूजीलैंड के सभी मैच पूरे हो गए हैं और उसके भारत से अधिक 11 अंक हैं लेकिन फाइनल में ऑस्ट्रेलिया से कौन समूह लड़ेगी यह फैसला भारत और मलेशिया के मैच पर ही निर्भर हो गया हैं। टूर्नामेंट में भारतीय खिलाड़ियों ने पेनल्टी कार्नर के कई मौके बनाए, लेकिन समूह में कई बार इसे गोल में तब्दील करने से चुक गई।

मौजूदा स्थिति को देखें तो भारतीय टीम मेजबान मलेशिया के खिलाफ करो या मरो के मुकाबले में एक बार फिर खिलाड़ी एस वी सुनील, तलविंदर सिंह, मनदीप, सरदार और निकिन की अहम भूमिका रहेगी और इनसे काफी उम्मीदें भी हैं। मलेशिया ने टूर्नामेंट में अब तक पांच मैचों में दो ही जीते हैं और वह 8 अंको के साथ चौथे स्थान पर है। हालांकि अहम मैच में प्रतिदव्ंदव्ी समूह का कमतर नहीं आंका जा सकता है। वैसे मेजबान समूह ने कई शानदार प्रदर्शन किया है, उसने कनाडा के साथ 2 - 2 और न्यूजीलैंड जैसी मजबूत टीम के खिलाफ 3 - 3 से ड्रा खेलें हैं, जबकि पाकिस्तान और जापान को हराया है और भारत के खिलाफ चुनौती पेश कर सकती है। भारतीय खिलाड़ियों के लिए मुकाबले में इतनी उमस भरी तपती गर्मी में अपने प्रदर्शन के स्तर को उच्च स्तर पर ले जाने की भी चुनौती रहेगी।

भारतीय और मलेशिया- हॉकी टीम ऐसे समय एकजुट होकर खेली जब उसे इसकी सबसे अधिक जरूरत थी। पहले थोड़े समय में अपनी बढ़त को बनाए रखा। और 63 फीसदी गेंद को अपने कब्जे में रखा और मलेशिया के गोल करने के कई मौको को बेकार भी किया। भारतीय टीम ने मलेशिया को अंतिम मुकाबले में 6 - 1 से हरा फाइनल (अंतिम) में प्रवेश किया। भारत ने अच्छा प्रदर्शन करते हुए दो में थोड़े समय बाद ही 4 - 0 की बढ़त बना थी। भारत की 6 मैचों में यह चौथी जीत रही और उसने 12 अंको के साथ गत वर्ष विजेता न्यूजीलैंड को पीछे छोड़ फाइनल में जगह बनाई।

अब अंतिम बार में भारत का मुकाबला ऑस्ट्रलिया से होगा। लीग में भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया से 1 - 5 से हारी थी। यह 7वां मौका है जब भारतीय टीम फाइनल में पहुंची है। पिछले साल मलेशिया ने लीग मैच में भारत को 3 - 2 से हराया था। ऑस्ट्रेलिया ने कनाडा को 3 - 0 से पराजित कर अपना विजय अभियान जारी रखा।

भारतीय खिलाड़ियों ने पेनल्टी कार्नर को बनाने में इस बार कोई गलती नहीं की। रमनदीप ने 25वें मिनट में पेनल्टी (दंड) कार्नर पर भारत का तीसरा गोल किया, जबकि इसके बाद मुज्तबा ने भी पेनल्टी (दंड) कार्नर को बना 27वें मिनट तक स्कोर 4 - 0 कर दिया। आधे समय तक स्कोर 4 - 0 से भारत के हक में था। तीसरे क्वार्टर में फिर रमनदीप ने मैदानी गोल कर बढ़त 5 - 0 कर दी। मलेशिया की ओर से खिलाड़ी शहरीन तबाह ने चौथे क्वार्टर के शुरू में ही एकमात्र गोल दागा। 50वें मिनट में खिलाड़ी परविंदर ने भारत की बढ़त 6 - 1 करने के साथ ही फाइनल में जगह भी सुनिश्चित कर ली। दिन के एक अन्य मुकाबले में पाकिस्तान ने जापान को 4 - 1 से हराया।

भारत को मैच के पहले पांच मिनट में ही चार मौके मिले लेकिन टीम एक को की बनाने में सफल रही। दूसरे मिनट में सुनील के पास पर निकिन थिमैयाह ने भारत को शुरुआती बढ़त दिलाई।

स्कोर लाइन-

भारत - (6) एसवी सुनील (दूसरा मिनट), हरजीत सिंह (7वां मिनट), रमनदीप सिंह (25, 39वां मिनट), दानिश मुज्तबा (27वां मिनट), तलविंदर सिंह (50वां मिनट)

मलेशिया - (1) साहरिल साबाह (46वां मिनट)

भारत पिछली बार 2010 में अंतिम में पहुचा था। जहां दक्षिण कोरिया और भारत का संयुक्त विजेता घोषित किया गया था। बारिश के चलते फाइनल मुकाबला नहीं खेला जा सका था।

India Versus Australia Details

India Versus Australia Details

भारत और ऑस्ट्रेलिया का सफर

ऑस्ट्रेलिया

भारत

कनाडा को 3 - 0 से हराया

जापान को 2 - 1 हराया

भारत को 5 - 1 से हराया

ऑस्ट्रेलिया से 1 - 5 से हारे

जापान को 3 - 1 हराया

कनाडा को 3 - 1 से हराया

मलेशिया को 5 - 1 से हराया

पाकिस्तान को 5 - 1 से हराया

न्यूजीलैंड को 1 - 0 से हराया

न्यूजीलैंड को 1 - 2 से हराया

पाकिस्तान को 4 - 0 से हराया

मलेशिया को 6 - 1 से हराया

16 अप्रैल- 5 - 6 स्थान का मैच, 3 - 4 स्थान का मैच और अंतिम-

ऑस्ट्रेलिया ने भारत पर एक बार फिर अपनी श्रेष्ठता साबित करते हुए 4 - 0 की शानदार जीत हासिल कर सुल्तान अजलान शाह कप हॉकी टूर्नामेंट जीत लिया। इस टूर्नामेंट का भारत के लिए यह रजत जयंती वर्ष था। भारत को रजत पदक से संतोष करना पड़ा। ऑस्ट्रेलिया ने लीग मैंच में भी भारत को 5 - 1 से हराया था। भारत ने खिताबी में ऑस्ट्रेलिया से पार पाने की भरपूर कोशिश की, लेकिन उसका पेनल्टी कॉर्नर कन्वर्जन और फिनिशिंग (सफाई से) दोनों ही खराब रहे थे। भारत को दो पेनल्टी कॉर्नर मिले, लेकिन वह इसका फायदा नहीं उठा पाया। ऑस्ट्रेलिया ने भी अपने तीनों पेनल्टी कॉर्नर बेकार किए, लेकिन उसके खिलाड़ियों ने चार मैदानी गोल दागे। थॉमस क्रेग ने 25वें मिनट में ऑस्ट्रेलिया को बढ़त दिलाई और फिर 35वें मिनट में स्कोर 2 - 0 कर दिया। मैट गोड्‌स ने 43वें मिनट में स्कारे 3 - 0 किया और मिर 57वें मिनट में स्कोर 4 - 0 पहुंचा दिया। अंतिम हूटर बजने पर भारतीय खिलाड़ी कुछ निराश नज़र आए। उनके पास खुद को साबित करने को एक अच्छा मौका था, लेकिन जब समूह कई अच्छे मौके बर्बाद करे तो उसके लिए विश्व चैंपियन के खिलाफ जीतना असंभव ही था। भारत ने पहले आधे समय तक सराहनीय संघर्ष किया और ऑस्ट्रेलिया को एक गोल तक रोके रखा लेकिन दूसरे आधे समय में ऑस्ट्रेलिया टीम ने तीन गोल दागकर भारत की उम्मीदों को तोड़ दिया।

जीत: - 9वीं बार अजलान शाह कप ऑस्ट्रेलिया ने जीता। इससे पहले 1983, 1996, 2004, 2006, 2007, 2011, 2013 और 2014 में बना चैपिंयन। पांच बार यहां चैंपियन रही भारत को दूसरी बार रजत पदक से संतोष करना पड़ा। इससे पहले भारत 2008 में दूसरे स्थान पर रहा था।

भारत के चिंगलेनसाना सिंह के लिए यह 100वां अतंरराष्ट्रीय मैच था लेकिन इसको यादगार नहीं बना सके।

न्यूजीलैेड ने मेजबान मलेशिया को पेनल्टी (दंड) शूटआउट में 5 - 4 से हराकर तीसरा स्थान हासिल किया। दोनों टीमें निर्धारित समय तक 3 - 3 से बराबरी पर थीं। न्यूजीलैंड की टीम पिछले वर्ष विजेता रही थी। पाकिस्तान ने कनाडा को 3 - 1 से हराकर 5वां स्थान हासिल किया। जापान को 7वां और आखिरी स्थान मिला।

उपसंहार: - आखिर कार प्रस्तुत टूर्नामेंट (खेल प्रतियोगिता) में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को हरा कर जीत हासिल कर ली हैं। भारत के खिलाड़ियों ने भी अच्छा प्रदर्शन किया था पर फिर भी थोड़ा खराब प्रदर्शन होने के कारण भारत ऑस्ट्रलिया से पिछे रह गया है। खैर अब भी आगे ओर खेल बाकी है जिसमें भारत अपना बहुत अच्छा प्रदर्शन करके जीत हासिल कर सकता है।

- Published on: May 11, 2016