Indian Geography MCQs in Hindi Part 110 with Answers

Glide to success with Doorsteptutor material for JNU : fully solved questions with step-by-step explanation- practice your way to success.

1 निम्नलिखित में से कौन-से कारक तापमान विषमता के लिये उत्तरदायी हैं?

ढवस बसेेंत्रष्कमबपउंसष्झढसपझ अक्षांशीय वितरण

  • ऊँचाई

  • स्थल व जल का प्रभाव

  • समुद्री धाराएँ

  • प्रचलित वायु

नीचे दिये गए कूट की सहायता से सही उत्तर का चुनाव करें:

अ) केवल 1, 2 और 3

ब) केवल 2, 3 और 4

स) केवल 3, 4 और 5

द) 1, 2, 3, 4 और 5

उत्तर: (द)

2 तापमान व्युत्क्रमण तथा प्रतिलोमन के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

ढवस बसेेंत्रष्कमबपउंसष्झढसपझ ऊपरी भाग में ठंडी एवं निचले भाग में गर्म वायु होने के कारण तापीय विलोमता की स्थिति उत्पन्न हो जाती है।

  • तापमान प्रतिलोमन स्वच्छ आकाश, शुष्क हवा तथा मंद समीर की स्थिति में प्रभावी होता है।

  • घना कोहरा प्रतिलोमन प्रक्रिया का ही परिणाम है।

उपर्युक्त कथनों में कौन सा/से सही है/हैं?

अ) केवल 1

ब) केवल 1 और 2

स) केवल 3

द) केवल 2 और 3

उत्तर: (द)

3 ’जाड़े की रात्रि में पर्वतीय ढलानों के ऊपरी भाग ठंडे रहते हैं, इसके विपरीत घाटी में तापमान उच्च पाया जाता है’।

उपर्युक्त प्रक्रिया वायुमंडल की किस परिघटना से संबंधित है?

अ) तापमान प्रतिलोमन

ब) तापमान विसंगति

स) रूद्धोष्म हाथ परिवर्तन

द) क्षैतिज उष्मा संतुलन

उत्तर: (अ)