CBSE Class 8 Hindi Sample Paper FA 1 (Download All the Papers for 2021 Exam)

Doorsteptutor material for CBSE/Class-10 Hindi is prepared by world's top subject experts: fully solved questions with step-by-step explanation- practice your way to success.

खंड-ग

8. निम्नलिखित गद्यांश को पढकर पूछे गए सवालों के जवाब

सही विकल्प चुनकर दीजिए-

यदि संसार में बदलू को किसी बात से चिढ़ थी तो वह थी काँच की चूडियों से। यदि किसी भी स्त्री के हाथों में उसे कांच की चूड़ियां दिख जाती तो वह अंदर-ही-अंदर कुढक्वूदसवंक ंसस जीम चंचमते वित रुक्ष्ल्म्।त्दव्रु म्गंउ्‌ैवसनजपवदे ंदक मगचसंदंजपवदे ंज कववतेजमचजनजवतण्बवउरू उठता और कभी-कभी तो -चार बातें भी सुना देता। मुझसे तो वह घंटो बातें किया करता। कभी मेरी पढाई के बारे में पूछता, कभी मेरे घर के बारे में और कभी यों ही शहर के बारे में। मैं उससे कहता कि शहर में सब कांच की चूड़ियाँ पहनते हैं तो वह

उत्तर देता, “शहर की बात और है लाला! वहां तो सभी कुछ होता है। वहाँ तो औरतें अपने मरद का हाथ पकड़कर सड़कों पर घूमती भी हैं और फिर उनकी कलाइयाँ नाजुक होती है न! लाख की चूडियाँ पहने तो मोच न आए जाए” । कभी-कभी बदलू मेरी अच्छी खासी खातिर भी करता। जिन दिनों उसकी गाय के दूध होता वह सदा मेरे लिए मलाई बचाकर रखता और आम की फसल में तो मैं रोज ही उसके यहां से दो-चार आम खा जाता।

(क) बदल को किस बात की चिढ़ थी?

(य) लाख की चूडियाँ

(र) कांच की चूडियाँ

(ल) सोने की चूडियाँ

(व) कोई उत्तर सही नहीं।

Answer: काँच की चूडियाँ

(ख) बदलू लेखक से किसके बारे में पूछता था?

(य) उनकी पढ़ाई के बारे में

(र) उनकी लड़ाई के बारे में

(ल) उनके विद्यालय के बारे में

(व) लाख की चूडियों के बारे में

Answer: उनकी पढ़ाई के बारे में

(ग) शहर की स्त्रियों की कलाइयाँ कैसी होती है?

(य) कठिन

(र) लचीली

(ल) नाजुक

(व) मनोहर

Answer: नाजुक

(घ) बदलू लेखक की खातिरदारी कैसा करता था?

(य) उनके लिए मिठाई देता था

(र) उनके लिए दूध रखता था

(ल) उनके लिए घी रखता था

(व) उनके लिए मलाई रखता था

Answer: उनके लिए मलाई रखता था

(ङ) ′ स्त्री ′ शब्द का लिंग बदलिए-

(य) बालक

(र) युवा

(ल) पुरुष

(व) युवती

Answer: पुरुष

या

बस की रफ्तार अब पंद्रह-बीस मील हो गई थी। मुझे उसकी किसी हिस्से पर भरोसा नहीं था। ब्रेक (टूटना/सेंध लगाना) फेल (असफल) हो सकता है, स्टीयरिंग (परिचालक) टूट सकता है। प्रकृति के दृश्य बहुत लुभावने थे। दोनों तरफ हरे-भरे पेड़ थे, जिन पर पक्षी बैठे थे। मैं हर पेड़ को अपना दुश्मन समझ रहा था। जो भी पेड़ आता, डर लगता कि इससे बस टकराएगी। वह निकल जाता तो दूसरे पेड़ का इंतजार करता। झील दिखती तो सोचता कि इसमें बस गोता लगा जाएगी।

(क) बस की रफ्तार कितनी थी?

(य) पचास-साठ मील

(र) साठ- सत्तर मील

(ल) दस -पंद्रह मील

(व) पंद्रह-बीस मील

Answer: पंद्रह-बीस मील

(ख) प्रकृति के दृश्य कैसे थे?

(य) लुभावने

(र) चंचल

(ल) शीतल

(व) निर्मल

Answer: लुभावने

(ग) लेखक हर पेड़ को क्या समझा रहा था?

(य) दोस्त

(र) दुश्मन

(ल) हरा-भरा

(व) ऊँचा

Answer: दुश्मन

(घ) गोता लगाने का अर्थ क्या है?

(य) गोद में बैठना

(र) गोल घूमना

(ल) डुबकी लगाना

(व) कोई उत्तर सही नहीं

Answer: डुबकी लगाना

(ङ) यह गद्यांश किस पाठ से लिया गया है?

(य) ध्वनि

(र) लाख की चूडियाँ

(ल) बस की यात्रा

(व) दीवानों की हस्ती

Answer: बस की यात्रा

9 निम्नलिखित पद्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर लिखिए-

हम दीवानों की क्या हस्ती,

हैं आज यहाँ, कल वहाँ चले,

मस्ती का आलम साथ चला,

हम धूल उडाते जहाँ चले।

आए बनकर उल्लास अभी,

आँसू बनकर बह चले अभी,

सब कहते ही रह गए, अरे,

तुम कैसे आए, कहाँ चलें?

(क) कवि और कविता के नाम लिखिए।

Answer: भगवतीचरण वर्मा , दीवानों की हस्ती

(ख) कवि के अनुसार ‘दीवाना’ शब्द का क्या अर्थ है?

Answer: मस्तमौला आदमी

(ग) ‘उल्लास’ शब्द का विलोम (व्यक्तिरेकार्थक) शब्द लिखिए।

Answer: उदास

(घ) कवि ने अपने आने को ′ उल्लास ′ और जाने को ′ आँसू बनकर बह जाना क्यों कहाँ है?

Answer: कवि कहते हैं कि वे जहाँ पर भी जाते हैं, वहाँ खुशियां फैलाते हैं और जब वे वहाँ से आगे निकलने लगे तो उनके बिछुड़ने से सब लोग दुखी हो जाते हैं।

या

अभी न होगा मेरा अंत

अभी-अभी ही तो आया है

मेरे वन में मृदुल वसंत

अभी न होगा मेरा अंत।

हरे-हरे ये पात,

डालियाँ, कलियाँ, कोमल गात।

मैं ही अपना स्वप्न-मृदुल-कर

फेरूँगाा निद्रित कलियों पर

जगा एक प्रत्युष मनोहर

(क) कवि और कविता के नाम लिखिए।

Answer: सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ ; ध्वनि

(ग) कवि किन्हे जगाना चाहता है?

Answer: निद्रित कलियों को

(घ) कवि को ऐसा विश्वास क्यों है कि उसका अंत अभी नहीं होगा?

Answer: कवि के जीवन में अभी-अभी वसंत का आगमन हुआ है, इसीलिए अभी उनकी जीवनलीला समाप्त नहीं होगी।

10 किन्ही तीन प्रश्नों के उत्तर लगभग 25 - 30 शब्दों में लिखिए-

(क) कवि पुष्पों की तंद्रा और आलस्य दूर हटाने के लिए क्या करना चाहता है?

Answer: अपने जीवन की आकांक्षाएं, नये सपनों चाहते हैं कि उनकी मुस्कराहट सदा बनी रहे।

(ख) मशीनी युग से बदलू के जीवन में क्या बदलाव आया?

Answer: अपने पुरखों का व्यवसाय चौपट हो गया।

रोजी-रोटी छीन ली गई।

(ग) “ऐसा जैसे सारी बस ही इंजन है और हम इंजन के भीतर बैठे है।” -लेखक को ऐसा क्यों लगा?

Answer: सार बस ही इंजन की आवाज से, उसके शोर से

भरी थी, लगता था कि सब यात्री इंजन में बैठकर सफर कर रहे हैं।

(घ) ‘दीवानों की हस्ती’ कविता में ऐसी कौन-सी बात है जो आपको सबसे अच्छी लगी?

Answer: खुशियां बांटते हुए आगे बढ़ने वाला मस्तमौला स्वभाव

(ङ) भावार्थ लिखिए-

छककर सुख-इुख के दो घूंटों को

हम एक भाव से पिए चले।

Answer: जीवन के सुख-दुख दोनों को समेटते हुए चलते है

11. किन्हीं तीन प्रश्नों के उत्तर संक्षेप में लिखिए-

(क) अहमदनगर किले की जेलयात्रा तक पं नेहरू की कितनी जेलयात्राएं हुई थी?

Answer: नौ जेलयात्राएं

(ख) शुक्ल पक्ष का क्या अर्थ है?

Answer: चांद के बढ़ते हुए पंद्रह दिन

(ग) अहमदनगर किले के साथ कौन -सी घटना जुड़ी हैं?

Answer: चांदबीबी नाम की एक सुंदर महिला के साहस की कहानी, जिसने किले की रक्षा क्े लिए अकबर की शाही सेना के विरुद्ध हाथ में तलवार उठाकर अपनी सेना का नेतृत्व किया।

(घ) पं. नेहरू के बंदी जीवन में उनका स्थाई सहचर कौन था?

Answer:

(ङ) इतिहास -लेखन में पं. नेहरू को क्या भयभीत करती थी?

Answer: विषय की कठिनता और जटिलता

Developed by: