भाग-1 भारतीय संविधान के स्रोत (Part-1: Resources of Indian Constitution) for CISF Exams

Doorsteptutor material for CTET-Hindi/Paper-1 is prepared by world's top subject experts: get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CTET-Hindi/Paper-1.

Download PDF of This Page (Size: 159K)

भारतीय संविधान के स्रोत - Resources of Indian Constitution

  • संयुक्त राज्य अमेरिका-

  • मौलिक अधिकार

  • न्यायापालिका की स्वतंत्रता एवं निष्पक्षता

  • न्यायिक पुनराविलोकन

  • विधि के समान संरक्षण

  • राष्ट्रपति के उपर महाभियोग की प्रक्रिया

  • स्घां के रक्षाबलों का राष्ट्रपति सर्वोच्च समादेशक

  • उप राष्ट्रपति का पद (राज्य सभा का सभापति)

  • स्ांविधान की प्रस्तावना

ब्रिटेन-

  • संसदीय शासन प्रणाली

  • एकल नागरिकता

  • विधि निर्माण प्रक्रिया

  • एकीकृत न्यायिक प्रणाली

आयरलैंड-

  • नीति निदेशक तत्व।

  • राष्ट्रपति के निर्वाचन मंडल की व्यवस्था।

  • राज्य सभा में साहित्य, विज्ञान, कला और समाज सेवा में विशिष्ट योगदान करने वालों का मनोनयन।

  • संसदीय पदव्ति के शीर्ष पर निर्वाचित राष्ट्रपति।

कनाडा-

  • संघीय ढांचा (संघ राज्य संबंध) (संघ राज्य शक्ति विभाजन)

  • भारतीय संघ को ’यूनियन’ का नाम देना।

  • अवशिष्ट शक्ति केन्द्र को

  • दक्षिण अफ्रीका-संविधान संसोधन की प्रक्रिया

  • जापान- विधि दव्ारा स्थापित प्रक्रिया

  • ऑस्ट्रेलिया- समवर्ती सूची

  • फ्रांस- गणतंत्रतात्मक शासन व्यवस्था

  • जर्मनी-आपातकालीन शक्तियां

  • पूर्व सोवियत संघ- मूल कर्तव्य

अन्य देशों के संविधान को जानने के लिए वी.एन. राव विदेशी यात्रा पर गये।

जिस देश का राष्ट्राध्यक्ष वंशानुगत नही निर्वाचित होता वह गणराज्य कहलाता है।

कैबिनेट (मंत्रिमंडल) मिशन (लक्ष्य) का आगमन- 23 मार्च 1946

अध्यक्ष-पैथिक लारेन्स (पी. लारेन्स)

सहयोगी-ए.वी.अलेक्जेन्डर, स्टैफर्ड क्रिप्स

एक अंतरिम सरकार का गठन- सितंबर 1946 (कैबिनेट (मंत्रिमंडल) मिशन (लक्ष्य) की सिफारिश पर)

ढवस बसेेंत्रष्कमबपउंसष्झढसपझ कार्यकारी परिषद का गठन-

  • सभापति-माउंटबेटन

  • उपसभापति-जवाहर लाल नेहरू

  • माउंटबेटन की बेटी-पामेला हिथ्स

  • पुस्तक-इंडिया रिमेम्बर्ड वर्ड

ढवस बसेेंत्रष्कमबपउंसष्झढसपझ संविधान सभा का गठन- दो कार्य-

  • संविधान का निर्माण

  • जब तक संसद का गठन न हो जाए तब तक संसद के रूप में कार्य करना।

Developed by: