CTET Dec 2018 Paper 1 Hindi Language II Questions Paper Part 1

Glide to success with Doorsteptutor material for CTET/Paper-1 : get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CTET/Paper-1.

121. निर्देश: नीचे दिए गए अनुच्छेद को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के सही/सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प को चुनिए ।

हेंवल घाटी के गाँववासियों ने चीड़ के पेड़ों के हो रहे विनाश के विरुद्ध जुलूस निकाले । घास-चारा लेने जा रही महिलाओं ने इन पेड़ों से लीसा टपकाने के लिए लगाए गए लोहे निकाल दिए व उनके स्थान पर मिट्टी की मरहम-पट्टी कर दी । महिलाओं ने पेड़ों का रक्षा-बंधन भी किया । आरंभ से ही लगा कि वृक्ष बचाने में महिलाएँ आगे आएँगी । वन कटने का सबसे अधिक कष्ट उन्हीं को उठाना पड़ता है, क्योंकि घास-चारा लाने के लिए उन्हें और दूर जाना पड़ता है । कठिन स्थानों से घास-चारा एकत्र करने में कई बार उन्हे बहुत चोट लग जाती है । वैसे भी पहाड़ी रस्तों पर घास-चारे का बोझ लेकर पाँच-दस कि० मी० या उससे भी ज्यादा चलना बहुत कठिन हो जाता है । इस आंदोलन की बात ऊँचे अधिकारियों तक पहुँची तो उन्हें लीसा प्राप्त करने के तौर-तरीकों की जाँच करवानी पड़ी । जाँच से स्पष्ट हो गया कि बहुत अधिक लीसा निकालने के लालच में चीड़ के पेड़ों को बहुत नुकसान हुआ है । इन अनुचित तरीकों पर रोक लगी । चीड़ के घायल पेड़ों को आराम मिला, एक नया जीबन मिला । पर तभी खबर मिली कि इस इलाके के बहुत से पेड़ों को कटाई के लिए नीलाम किया जा रहा है । लोगों ने पहले तो अधिकारियों को ज्ञापन दिया कि जहाँ पहले से ही घास-चारे का संकट है, वहाँ और व्यापारिक कटान न किया जाए । जब अधिकारियों ने गाँववासियों कि मांग पर ध्यान न देते हुए नरेंद्रनगर में नीलामी कि घोषणा कर दी, तो गांववासी जुलूस बनाकर वहाँ नीलामी का विरोध करते हुए पहुँच गए । वहाँ एकत्र ठेकेदारों से हेंवल घाटी कि महिलाओं ने कहा, “आप इन पेड़ों को काटकर हमारी रोजी-रोटी मत छीनो । पेड़ कटने से यहाँ बाढ़ व भू-स्खलन का खतरा भी बढ़ जाएगा ।” कुछ ठेकेदारों ने तो वास्तव में यह बात मानी पर कुछ अन्य ठेकेदारों ने अदवानी और सलेत के जंगल खरीद लिए ।

हेंवल घाटी में किन पेड़ों के होने वाले विनाश के विरुद्ध जुलूस निकाले गए?

A. चीड़

B. पीपल

C. आम

D. देवदार

122. महिलाओं ने पेड़ों का रक्षा-बंधन क्यों किया?

A. पेड़ों को सुंदर बनाने के लिए

B. उनकी मरहम-पट्टी करने के लिए

C. पेड़ों को बचाने के लिए

D. यह उस घाटी की रस्म थी

123. वन काटने का सबसे अधिक कष्ट महिलाओं को क्यों उठाना पड़ता है?

A. उन्हें चारा लाने के लिए दूर जाना पड़ता है

B. उन्हें वनों की घनी छाया नहीं मिलती

C. उन्हें वनों से लीसा नहीं मिलता

D. केवल उन्हे ही वन से प्रेम था

124. चीड़ के पेड़ों को किससे बहुत नुकसान हो रहा था?

A. अधिक घास-चारा लाने से

B. बहुत अधिक लीसा निकालने से

C. कुछ ठेकेदारों से

D. बहुत ऊँचे अधिकारियों से

125. पेड़ कटने से किसका खतरा बढ़ जाएगा?

A. भू-स्खलन और बाढ़ का

B. भू-स्खलन और लकड़ी का

C. लकड़ी और चारे का

D. बाढ़ और लकड़ी का

126. ‘रोजी-रोटी’ शब्द है –

A. सर्वनाम

B. विशेषण

C. शब्द-युग्म

D. संज्ञा

127. “कुछ ठेकेदारों ने तो वास्तव में वह बात मानी” – वाक्य में निपात है –

A. ने

B. तो

C. वह

D. कुछ

128. निर्देश: नीचे दिए गए प्रश्नों के सही/सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प को चुनिए ।

वाइगोत्स्की ने भाषा-विकास का ________ परिप्रेक्ष्य प्रस्तुत किया ।

A. समाज - सांस्कृतिक

B. व्यवहार - सांस्कृतिक

C. संज्ञानवादी

D. व्यवहारवादी

129. निर्देश: नीचे दिए गए प्रश्नों के सही/सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प को चुनिए ।

बहुभाषिक कक्षाओ में बच्चों की घर की भाषा को स्थान देने की द्रष्टि से कौन-सा कार्य सर्वाधिक प्रभावी है?

A. हिंदी भाषा के शब्दों को अपनी भाषा में लिखो

B. हिंदी भाषा में सुनी कहानी को अपनी भाषा में कहो

C. अपनी भाषा में अपनी पसंद का कोई गीत सुनाओ

D. हिंदी भाषा के शब्दों को अपनी भाषा में कहो

130. निर्देश: नीचे दिए गए प्रश्नों के सही/सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प को चुनिए ।

कक्षा पाँच के बच्चों की हिंदी भाषा का आकलन करने में कौन-सा प्रश्न सर्वाधिक उपयोगी है?

A. झूरी के बैलों के नाम बताइए ।

B. गया कैसा व्यक्ति था?

C. हीरा समझदार था या मोती? क्यों?

D. झूरी के कितने बैल थे?