CTET Dec 2018 Paper 2 Hindi Language I Questions Paper Part 2

Get top class preparation for CTET/Paper-2 right from your home: get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CTET/Paper-2.

104. एक भाषा के अध्यापक को बच्चों में

A. आलंकारिक भाषा – प्रयोग की समझ विकसित करने पर बल देना चाहिए

B. विविध संदर्भों में भाषा – प्रयोगों की क्षमता विकसित करने पर बल देना चाहिए

C. शुद्ध भाषा – प्रयोग की क्षमता विकसित करने पर बल देना चाहिए

D. भाषा सिद्धांतों की समझ विकसित करने पर बल देना चाहिए

105. “कोई भाषा किसी भी लिपि में लिखी जा सकती है” – इस कथन पर आपकी राय है कि –

A. यह बहुत हद तक संभव है

B. हर भाषा की अपनी लिपि होती है

C. भाषा और लिपि के बीच एक सीधा संबंध है

D. यह बिलकुल संभव नहीं

106. निर्देश: नीचे दिए गए गधान्श को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के सही/सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प को चुनिए|

“भारत 15 अगस्त, 1947 को आजाद हुआ | इस आजादी के लिए पूरे देश की जनता ने एक लंबा और मुश्किल संघर्ष चलाया था | इस संघर्ष में समाज के बहुत सारे तबकों की हिस्सेदारी थी | तरह-तरह की पृष्ठभूमि के लोगों ने इसमें भाग लिया | वे स्वतन्त्रता, समानता तथा निर्णय प्रक्रिया में हिस्सेदारी के विचारों से प्रेरित थे | औपनिवेशिक शासन के तहत लोग ब्रिटिश सरकार से भयभीत रहते थे | वे सरकार के बहुत सारे फैंसलों से असहमत थे | लेकिन अगर वे इन फैसलों की आलोचना करते तो उन्हें भारी खतरों का सामना करना पड़ता था | स्वतन्त्रता आंदोलन ने यह स्थिति बदल डाली | राष्ट्रवादी खुलेआम ब्रिटिश सरकार की आलोचना करने लगे और अपनी माँग पेश करने लगे | 1885 में ही भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने माँग की कि विधायिका में निर्वाचित सदस्य होने चाहिए और उन्हें बजट पर चर्चा करने एवं प्रश्न पूछने का अधिकार मिलना चाहिए 1909 मे बने गवर्नमेंट ऑफ इंडिया एक्ट ने कुछ हद तक निर्वाचित प्रतिनिधित्व की व्यवस्था को मंजूरी दे दी | हालाँकि ब्रिटिश सरकार के अंतर्गत बनाई गई ये शुरुआती विधायिकाएँ राष्ट्रवादियों के बढ़ते जा रहे दबाव के कारण ही बनी थीं, लेकिन इनमें भी सभी वयस्कों को न तो वोट डालने का अधिकार दिया गया था और न ही आम लोग निर्णय प्रक्रिया में हिस्सा ले सकते थे |”

लोग किन विचारों से प्रेरित होकर आजादी के संघर्ष में शामिल हुए?

A. स्वतन्त्रता

B. समानता

C. निर्णय प्रक्रिया में हिस्सेदारी

D. उपर्युक्त सभी

107. आजादी के लिए संघर्ष किसने चलाया?

A. देश की जनता ने

B. ब्रिटिश सरकार ने

C. सदस्यों ने

D. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने

108. निम्नलिखित में से लोकतांत्रिक व्यवस्था का मूल्य कौन-सा है?

A. समानता

B. स्वतन्त्रता

C. विचारों की अभिव्यक्ति

D. उपर्युक्त सभी

109. आंदोलन का क्या असर पड़ा?

A. सरकार की खुलकर आलोचना होने लगी

B. लोगों को हिस्सेदारी मिल गई

C. लोकतंत्र स्थापित हो गया

D. ब्रिटिश शासक चले गए

110. कांग्रेस की क्या माँग थी?

A. विधायिका में निर्वाचित सदस्य हों

B. अंग्रेजों भारत छोड़ो

C. आजादी दो

D. भारतीय पुरजोर विरोध करें

111. सबसे सटीक/सार्थक वाक्य चुनिए |

A. संघर्ष मनुष्य को उजाड़ता है |

B. संघर्ष मनुष्य को भटकाता है |

C. संघर्ष मनुष्य को निखारता है |

D. संघर्ष मनुष्य को सफलता दिलाता है |

112. ‘खुलेआम’ शब्द का सबसे सार्थक प्रयोग है –

A. खुलेआम बरसात हो रही थी |

B. खुलेआम बुराइयाँ हो रही थीं |

C. खुलेआम नाक बज रही थी |

D. खुलेआम नगाड़े बज रहे थे |

113. ‘दबाव’ शब्द का प्रयोग कहाँ पर होगा?

A. हवा का ________ कम हो गया |

B. भीड़भाड़ ________ से था |

C. सभी चुपचाप ________ से थे |

D. चढ़ता ________ गिरता गया |

Developed by: