स्क्येस-पिकॉट समझौता (Skyish-Pikot A Settlement-Culture)

Download PDF of This Page (Size: 173K)

सुर्ख़ियों में क्यों?

• 9 मई, 2016 को स्क्येस-पिकॉट समझौते के 100 वर्ष पूरे हुए हैं।

स्क्येस-पिकॉट समझौता क्या हैं?

• रूस की सहमति से फ्रांस और ब्रिटेन के बीच एक गुप्त समझौता किया गया था, जिसमें विश्व युद्ध के बाद अपने प्रभाव क्षेत्र के रूप में तुर्क साम्राज्य को बांटाना था।

• मार्क स्काइस और फ्राँस्वा जार्ज-पिकाट क्रमश: ब्रिटिश एवं फ्रांसिसी कूटनीतिज्ञ थे जिन्होंने इस समझौते की शर्ते निर्धारित की थी।

• अंग्रेजो ने फिलिस्तीन और इराक हासिल किया जबकि फ्रांस को वर्तमान सीरिया वाला भूभाग मिला।

समकालीन युग में निहितार्थ

• यह पश्चिमी शक्तियों दव्ारा मध्यपूर्व एकता के सपने के विनाश का प्रतीक है- पहले राजनीतिक और अब धार्मिक।

• इस समझौते ने मध्य पूर्व के विरोधी समुदायों को नये राज्यों में एक साथ रखा जैसे इराक एवं लेबनान जिनके विवाद अब भी जारी है।

• ये विवाद इस क्षेत्र में आईएसआईएस और आतंकवाद के उदय के पीछे मुख्य कारण हैं।

• यह पश्चिमी एशिया में ब्रिटिश नीति के विकास को भी दिखाता है जो ग्रेट (विशाल) गेम (खेल/उत्साही/चाल) के विस्तार से लेकर भारत तक पहुँचने के स्थलीय मार्ग पर नियंत्रण स्थापित करने और फिलिस्तीन में यहूदी देश बसाने की प्रतिबद्धता तक विस्तृत है।

• समझौते ने चार देशों में कुर्दो को विभाजित कर दिया और उन्हें हर जगह एक अल्पसंख्यक समुदाय बनाया-जो उनके उत्पीड़न और दुख के पीछे एक प्रमुख कारण है।