भारतवाणी पोर्टल का शुभारंभ (Indian Portal Launched – Culture)

Get unlimited access to the best preparation resource for UGC : Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

Download PDF of This Page (Size: 146K)

यह क्या है?

• एक बहुभाषायी ज्ञान पोर्टल है।

• इसका लक्ष्य एक पोर्टल के माध्यम से मल्टीमीडिया (अनेक संचार माध्यम जैसे टीवी, रेडियों आदि) का प्रयोग कर विभिन्न भारतीय भाषाओं के बारे में ज्ञान प्रदान करना है।

• यह मानव संसाधन विकास मंत्रालय की परियोजना है जिसे लखनऊ से प्रारंभ किया गया है।

• यह केन्द्रीय भारतीय भाषा संस्थान (सीआईआईएल) मैसूर दव्ारा लागू किया जाएगा।

मुख्य विशेषताएँ

• यह बहुभाषा सीखने, सामग्री और प्रौद्येगिकी के लिए एकल बिन्दु स्रोत बनने पर केन्द्रित होगा।

• यह एक समावेशी, संवादात्मक और सक्रिय मंच होगा।

• इसे सभी भारतीय लेखकों, भारत सरकार और गैर-सरकारी संस्थाओं दव्ारा मल्टीमीडिया सामग्री के योगदान दव्ारा दुनिया में सबसे बड़े भाषा पोर्टल के रूप में विकसित करने का प्रस्ताव है।

• इसमें एक मोबाइल (गतिशील) एप्लिकेशन (औपचारिक पत्र) आधारित बहुभाषी शब्दकोश भी शामिल होगा।

• पोर्टल 22 अनुसूचित भाषाओं में शुरू किया गया है, और इसे बाद में 100 से अधिक भाषाओं में भी विस्तृत किया जाएगा।

महत्ता

§ यह भाषा और डिजिटल (अँगंली संबंधी) डिवाइड (रहित) को कम कर राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा देगा।

§ यह बिना किसी भेदभाव के तकनीकी विकास के माध्यम से सभी भारतीय भाषाओं की सुरक्षा, संरक्षण और समावेशन किए जाने की दिशा में एक कदम है।

§ यह साइबर स्पेस (रिक्त स्थान) के माध्यम से भारत की भाषाई विविधता और संस्कृति को एक वैश्विक मंच प्रदान करेगा।

§ भारतवाणी में बड़े पैमाने पर उपलब्ध डेटा (आंकड़ा) का लाभ भारतीय भाषाओं में अनुसंधान एवं विकास हेतु उठाया जा सकता है। यह भारतीय भाषाओं, शब्दकोशों, भाषा आईटी उपकरणों और पाठय पुस्तकों के बारे में ज्ञान के लिए एकल बिन्दु ऑनलाइन खिड़की के रूप में कार्य करेगा।

§ यह पर्यटन उद्योग, स्किल इंडिया (कौशल, भारत) आदि प्रयासों के लिए अत्यधिक सहायक होगा।

§ यह लोगों की भागीदारी दव्ारा स्वतंत्र ज्ञान आंदोलन की दिशा में एक प्रयास भी हैं।

Developed by: