सौर ऊर्जा (solar energy) Part 2

Download PDF of This Page (Size: 164K)

सूर्यमित्र

सूर्यमित्र कौन है?

सूर्यमित्र कुशल तकनीशियन होते हैं जो सौर ऊर्जा संचालित पैनलों, सौर ऊर्जा संयंत्रों और उपकरणों की स्थापना, संचालन, सुधार तथा मरम्मत आदि करते हैं। (उदाहरण: सौर कुकर, सौर हीटर (तापक), सौर पंप (पिचकारी) आदि)

राष्ट्रीय सौर ऊर्जा संस्थान (एनआईएसई)

  • यह नवीन एवं नवीकरणीय मंत्रालय की एक स्वायत्त संस्था है, जो सौर ऊर्जा क्षेत्र की सर्वोच्च राष्ट्रीय अनुसंधान एवं विकास संस्था है।

  • भारत सरकार ने सितंबर 2013 में 25 साल पुराने सौर ऊर्जा केन्द्र को राष्ट्रीय सौर ऊर्जा संस्थान के रूप में एक स्वायत्त संस्था में परिवर्तित किया; इसका उद्देश्य राष्ट्रीय सौर मिशन को लागू करने में और अनुसंधान, प्रौद्योगिकी तथा अन्य संबंधित कार्यों में समन्वय स्थापित करने के लिए नवीन एवं नवीकरणीय मंत्रालय की सहायता करना है।

सूर्यमित्र पहल

  • ”सूर्यमित्र” एक आवासीय कार्यक्रम है, जो पूरी तरह से (100 प्रतिशत) सरकार दव्ारा वित्त पोषित है और भारतीय सौर ऊर्जा संस्थान (एनआईएसई) दव्ारा लागू किया जा रहा है।

  • नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने अगले 3 साल में सौर ऊर्जा क्षेत्र में 50,000 ’सूर्यमित्र’ (कुशल श्रमिक) तैयार करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। अभी तक सूर्यमित्र कार्यक्रम के तहत 3200 से अधिक लोगों को प्रशिक्षित किया गया है। वित्तीय वर्ष 2016-17 के लिए लक्ष्य 7000 सूर्यमित्र को प्रशिक्षित करना है।

राष्ट्रीय सौर ऊर्जा संस्थान (एनआईएसई) के बारे में

यह नवीन एवं नवीकरणीय मंत्रालय की एक स्वाय त्त संस्था है, जो सौर ऊर्जा क्षेत्र की सर्वोच्च राष्ट्रीय अनुसंधान एवं विकास संस्था है।

सूर्यमित्र मोबाइल (चलायमान) एप्लिकेशन (आवेदन)

  • ”सूर्यमित्र” एक जीपीएस आधारित मोबाइल ऐप है जिसे राष्ट्रीय सौर ऊर्जा संस्थान दव्ारा बनाया गया है।

  • यह एप्लेिकेशन एक हाई (उच्च) एंड (और) टेक्नोलॉजी (तकनीकी) प्लेटफॉर्म (मंच) है, जो हजारों कॉल (पुकार) को एक साथ संभाल सकता है और कुशलता से सूर्यमित्र की प्रत्येक विजिट (यात्रा) की निगरानी कर सकती है।

केन्द्र सोलर (सौर) पार्क क्षमता को दोगुना करेगा

सुर्ख़ियों में क्यों?

  • कैबिनेट (मंत्रिमंडल) ने सौर पार्क की क्षमता को दोगुना करते हुए 40,000 मेगावॉट तक बढ़ाने को मंजूरी दे दी है।

  • राज्य सौर पार्क डेवलपर (विकासक) की पहचान करेगा और उस ज़मीन की भी पहचान करेगा जिस पर इसका निर्माण किया जाएगा।

योजना की पात्रता

  • सभी राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश इस योजना के लिए पात्र हैं।

  • भारतीय सौर ऊर्जा निगम (एसईसीआई) नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के तहत योजना का प्रशासन करेगी।

भारतीय सौर ऊर्जा निगम (एसईसीआई)

  • यह नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के तहत एक गैर-लाभकारी कंपनी (संघ) है।

  • यह वर्तमान में भारत सरकार के कई सौर कार्यक्रमों की कार्यान्वयन एजेंसी (शाखा) है।