सस्टेनेबल (सतत) डेवलपमेंट (विकास) गोल (उद्देश्य) इंडेक्स (सूचकांक) (Sustainable Development Round Index)

Download PDF of This Page (Size: 142K)

  • यह सूचकांक सस्टेनेबल डेवलपमेंट सॉल्यूशन (उपाय) नेटवर्क (तंत्र) (एसडीएसएन) और बर्टल्समैन स्टिफटंग दव्ारा आरंभ किया गया है।

  • यह एसडीजी की प्रगति पर नज़र रखने और शीघ्र कार्रवाई के लिए प्राथमिकताओं की पहचान करके जवाबदेही सुनिश्चित करने हेतु एक रिपोर्ट (विवरण) है।

  • भारत 149 देशों में से 110वें स्थान पर है जो एक निम्न रैंक (श्रेणी) है जबकि स्वीडन सर्वोच्च स्थान पर है।

  • यह सूचकांक दिखाता है कि इन सभी महत्वाकांक्षी लक्ष्यों को हासिल करने में सभी देशों को बड़ी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है।

  • जो देश इन लक्ष्यों को पूरा करने के सबसे निकट हैं वे सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश नहीं हैं, बल्कि तुलनात्मक रूप से छोटे, विकसित देश हैं।

मानव पूँजी सूचकांक

  • यह सूचकांक जेनेवा स्थित विश्व आर्थिक मंच दव्ारा प्रकाशित किया जाता है।

  • यह सूचकांक 130 देशों को रैंक के अनुसार यह प्रदर्शित करता है कि वे देश किस प्रकार विकसित हो रहे हैं और अपनी प्रतिभाओं को कितना अवसर दे रहे हैं।

  • सूचकांक मानव पूंजी के लिए 15 से 65 साल के विशिष्ट आयु के लोगों की शिक्षा के स्तर, कौशल और रोजगार के स्तर का मूल्यांकन लाइफ (जीवन) कोर्स (पाठयक्रम) एप्रोच (पहुंच) के अनुसार करता है।

  • इस वर्ष का संस्करण कौशल-विविधता, तीव्र अर्थव्यवस्था और प्रतिभाओं की गतिशीलता पर नवीन अंतर्दृष्टि को प्रकट करने हेतु नए डेटा (आंकड़ा) स्रोतों की पड़ताल/खोज करता है।

  • इस सूचकांक में वैश्विक स्तर पर भारत निचले पायदान-105वें स्थान पर है जबकि फिनलैंड पहले स्थान पर था।

स्टेट (राज्य) ऑफ़ (का) आईसीटी इन (भीतरी) एशिया एंड (और) द (यह) पैसिफिक (शांत) 2016 : ब्रॉडबैंड (उच्च गति आंकड़ा संचरण तकनीकी) डिवाइड (विभाजन)

  • यह यूनाइटेड (संगठित) नेशन (राष्ट्र) इकॉनोमिक (अर्थशास्त्र) एंड (और) सोशल (सामाजिक) कमीशन (आयोग) फॉर (के लिए) एशिया एंड (तथा) पैसेफिक (शांत) (ईएससीएपी) का एक अध्ययन है।

  • 2015 में एशिया प्रशांत देशों में फिक्स्ड (स्थिर) ब्रॉडबैंड (उच्च गति आंकड़ा संचरण तकनीकी) अपनाने के मामले में भारत का 39वां स्थान है। मात्र 1.3 प्रतिशत नागरिकों ने फिक्स्ड ब्रॉडबैंड सेवा को अपनाया है।

ईएससीएपी के बारे में

  • यह एशिया-प्रशांत क्षेत्र के लिए संयुक्त राष्ट्र की क्षेत्रीय विकास शाखा है। इसमें 53 सदस्य देश और 9 एसोसिएट (साथी) सदस्य शामिल है।

  • यह एशिया और प्रशांत क्षेत्र में समावेशी और सतत आर्थिक-सामाजिक विकास को प्राप्त करने हेतु सदस्य राज्यों के बीच सहयोग को बढ़ावा देने के लिए सर्वाधिक व्यापक बहुपक्षीय मंच प्रदान करता है।

वर्ल्ड (विश्व) इकॉनोमिक (अर्थशास्त्र) फ्रीडम (स्वतंत्रता)

  • यह कनाडा के फ्रेजर इंस्टीटयूट (संस्थान) के सहयोग से भारत के अग्रणी सार्वजनिक थिंक टैंक (प्रबुद्ध मंडल), सेंटर (केन्द्र) फॉर (के लिए) सिविल (नागरिक) सोसाइटी (समाज) दव्ारा जारी किया जाता है।

  • यह देशों की आर्थिक स्वतंत्रता की उपलिब्धयों को पांच व्यापक क्षेत्रों के आधार पर मापता है।

  • यह रिपोर्ट (विवरण) 2014 के आंकड़ों पर आधारित है।

  • भारत 2016 में इस सूचकांक में 10 पायदान नीचे पहुँच गया है। हांगकांग सूचकांक में सर्वोच्च स्थान पर है, तत्पश्चात सिंगापुर और न्यूजीलैंड का स्थान है।