दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना (Deendayal Upadhyaya Gram Jyoti Project– Economy)

Download PDF of This Page (Size: 169K)

• यह योजना ग्रामीण क्षेत्र में बहुपतिक्षित सुधारों को प्रारंभ करेगी इसके पूर्व ग्रामीण विद्युतीकरण के लिए प्रारंभ की गई राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना (आर.जी.जी.वाई) को भी नवीन योजना में समाहित कर दिया गया है।

घटक: योजना के प्रमुख घटक है

• कृषि कार्य के लिए प्रयोग होने वाले फीडर (सहायक नदी) को अन्य कार्यो के लिए प्रयुक्त होने वाले फीडर से ग्रामीण फीडर संप्रेषण कार्यक्रम के तहत पृथक किया जाएगा।

• उपट्रांसमीशन (संचरण) और वितरण नेटवर्क (जाल पर कार्य) को मजबूत बनाया जाएगा।

• प्रत्येक स्तर पर मीटरिंग (इनपुट बिंदु, फीडर और वितरण ट्रांसफार्मर (परिवर्तक) पर)।

• माइक्रोग्रिड और आफग्रिड (तरीके से अलग) वितरण नेटवर्क तथा ग्रामीण विद्युतीकरण।

• योजना में सामान्य राज्यों को 60 प्रतिशत अनुदान के रूप में जब कि विशेष श्रेणी के राज्यों को 85 प्रतिशत अनुदान के रूप में दिया जाएगा। महत्वपूर्ण है कि सामान्य श्रेणी के राज्यों को एक निश्चित लक्ष्य प्राप्त करने लेने पर 75 प्रतिशत तक राशि अनुदान के रूप में तथा विशेष श्रेणी के राज्यों को निश्चित लक्ष्य प्राप्त कर लेने पर 90 प्रतिशत तक राशि अनुदान के रूप में प्रदान की जाएगी।

• सभी उत्तर पूर्वी राज्य, जिसमें सिक्किम भी शामिल है, जम्मू-कश्मीर, हिमांचल प्रदेश और उत्तराखंड विशेष राज्यों की श्रेणी में शामिल है।

ग्रामीण विद्युतीकरण निगम (आरईसी), योजना के संक्रियागत संचालन के लिए नोडल (ग्रंथि संबंधी) एंजेसी (शाखा) होगी।