करेंसी (मुद्रा) नोटों पर नयी विशेषताएंँ (New Feature On Currency Notes – Economy)

Download PDF of This Page (Size: 172K)

सुर्ख़ियों में क्यों?

• नकली भारतीय नोटों के खतरे से निपटने के लिए नोटों विशेष रूप से रु. 1000, रु.500 श्रेणी के नोटों पर 7 नए सुरक्ष चिन्ह और एक नई नंबर (संख्या) प्रणाली होगी।

• भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंको को निर्देश दिया है कि नकली नोट पकड़े जाने पर उन नोटों पर ”जाली नोट” लिखा जाए और उन्हें जब्त कर लिया जाए। जो बैंक इस प्रक्रिया का पालन नहीं करेंगे उन्हें दंडित किया जाएगा।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (शाखा) (एनआईए) को नकली नोटों के मामलों के लिए नोडल (गंथि संबंधी) एजेंसी (शाखा) नामित किया गयर है।

नयी विशेषताएं

• रु. 100, रु.500 और रु. 1000 श्रेणी के नोटों पर ब्रेल लिपि की तरह के चिन्ह।

• 100 रुपये के नोटों की सीमा पर और महात्मा गांधी वॉटरमार्क के बगल में चार समानांतर कोणीय रेखाए होगी। 500 रुपये के नोटों पर पांच रेखाएं और 1000 रुपये के नोटों पर छह रेखाएं होगी।

• नोटों का क्रमांकन उभरे हुए अक्षरों से होगा। नोटों के संख्यांकन पैनल (तालिका) पर छपे प्रत्येक अंकों के आकार में बायीं से दायीं ओर क्रमश: वृद्धि होगी।

• इन करेंसी (मुद्रा) नोटों पर मौजूद पहचान चिन्ह के माप में 50 प्रतिशत की वृद्धि की जाएगी जिससे नेत्रहीन लोगों के लिए नोट की पहचान करना और आसान हो जाएगा।

• नवीतम तकनीक वाली छपाई का इस्तेमाल किया जाएगा जिसमें सुरक्षा कागज छिद्रित होगा और प्रिटिंग (छपाई) स्याही को उस कागज़ पर उत्कीर्ण किया जाएगा। इससे लोंगों का उन समानांतर कोणीय रेखाओं को महसूस करने में आसानी होगी।