सकारात्मक जोन में डब्ल्यूपीआई (WPI In Positive Zone – Economy)

Download PDF of This Page (Size: 168K)

• अप्रैल माह में थोक मूल्य सूचकांक मुद्रास्फीति दर 0.34 प्रतिशत पर आ गयी।

• पिछले 17 महीने से यह नकारात्मक जोन में था। पिछले वर्ष अप्रैल में डब्ल्यूपीआई-2.43 प्रतिशत था।

डब्ल्यूपीआई के बढ़ने के कारण

• खाद्य पदार्थो जैसे कि आलू, दालें और चीनी के मूल्य में वृद्धि।

• आपूर्ति पक्ष में कमी और खाद्य अर्थव्यवस्था में कुप्रबंधन के कारण खाद्य मुद्रास्फीति।

• लगातार दो साल से पड़ रहे सूखे से आपूर्ति की स्थिति और बदत्तर हो गयी है।

• सरकार दव्ारा मनमाने ढंग से और असमय हस्तक्षेप से। उदाहरण के लिए चीनी के कम उत्पादन के बावजूद निर्यात की अनुमति देना।

डब्ल्यूपीआई में वृद्धि के निहितार्थ

• यह अर्थव्यवस्था की कीमत में सख्ती की ओर संकेत करती है।

• डब्ल्यूपीआई में वृद्धि सीपीआई में वृद्धि लाएगा। यह आरबीआई को कठोर मौद्रिक उपायों को अपनाने पर मजबूर कर सकता है जिसमें कि हैडलाइन (शीर्षक) मुद्रास्फीति को 6 प्रतिशत की निर्धारित सीमा के भीतर रखा जा सके।