दिल्ली की सम-विषम नीति (Delhi's Equitable Policy – Environment And Ecology)

Download PDF of This Page (Size: 178K)

सम-विषम नीति क्या है?

• इस योजना के तहत, दिल्ली में सम तिथि वाले दिन सिर्फ सम संख्या तथा विषम तिथि वाले दिन सिर्फ विषम संख्या की नंबर (संख्या) प्लेट (पट्‌िटका) वाली कारों का प्रयोग करने की अनुमति दी गई है।

• योजना के तहत सम-विषम फॉर्मूला (सूत्र) का अनुपालन न करने वाले वाहन स्वामियों पर 2000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।

• इस नीति के तहत अकेले कार चलाने वाली महिलाएँ, विशिष्ट व्यक्तियों (वीआईपीएस), अति विशिष्ट व्यक्तियों (वीवीआईपीएस), आदि को छूट प्रदान की गई है।

आवश्यकता

• दिल्ली में अतिसूक्ष्म कण जैसे पीएम 2.5 का स्तर अक्सर विश्व स्वास्थ्य संगठन एवं संयुक्त राष्ट्र संघ दव्ारा सुरक्षित माने जाने वाले स्तर से अधिक हो जाता है।

• पीएम 10, जिनका व्यास 10 माइक्रोन (मीटर का दशलक्षों वाला भाग ) से कम है, श्वसप तंत्र में प्रवेश कर ब्रोकाइटिस, अस्थमा तथा ऊपरी श्वसन तंत्र के संक्रमण जैसे खतरों को बढ़ाते हैं। पीएम 10 सूक्ष्मकण किसी नयी समस्या को जन्म देने के बजाए उपस्थित बीमारियों के लक्षणों में बढ़ोत्तरी कर देते हैं।

• पीएम 2.5 अत्यधिक महीन कण हैं जो निचले श्वसन तंत्र या श्वसन तंत्र में भीतर तक और रक्त प्रवाह में प्रवेश कर हृदयवाहिनी संबंधी समस्याओं के कारण बनते हैं।

• पीएम 1, जो पीएम 2.5 से भी अत्यधिक महीन कण हैं, हृदयवाहिनी तथा रक्तवाहिकाओं में और गहराई तक जाकर स्थायी समस्याओं (यथा लोगों को हृदयरोगों की ओर उन्मुख करना) को जन्म देते हैं।

• सम-विषम योजना के दौरान भारत में पहली बार पीएम 1 कणों की निगरानी की गयी।

• दिल्ली में वायु प्रदूषण में वाहनों का योगदान काफी अधिक है। कुछ अध्ययनों के अनुसार यह कुल प्रदूषण का 80 प्रतिशत तक हो सकता है।

• शहर में मूल ध्वनि के स्तर स्वीकार्य मानकों को पार कर चुके हैं।

चुनौतियाँ

• वाहन दव्ारा होने वाले उत्सर्जन, दिल्ली के वातावरण में पीएम 2.5 प्रदूषक का स्तर बढ़ाने में केवल 20 प्रतिशत से 40 प्रतिशत ही योगदान करते हैं।

• इस नीति के दायरे को और व्यापक बनाने के लिए सरकार को प्रदूषण के अन्य स्रोतों जैेसे विद्युत संयंत्र, ईंधन मानक, कृषि प्रदूषण आदि पर भी विचार करना चाहिए और पर्यावरण पर उनके प्रभाव को कम करने के लिए प्रयास करना चाहिए।

• चीन की कुछ विशिष्ट दिनों पर सम-विषम संख्या वाले वाहनों पर प्रतिबंध लगाने की नीति ने बीजिंग में रहने वाले परिवारों को दूसरी कार खरीदने के लिए प्रेरित किया है। ऐसा ही अनुभव मैक्सिकों शहर में भी महसूस किया गया है।

• दिल्ली में प्रति व्यक्ति आय की उच्च स्थिति (2014-15 में 2,40,849 रुपये) को ध्यान में रखते हुए यह संभावना व्यक्त की गई है कि अगर इस नीति को लंबी अवधि के लिए लागू किया जाता है तो ज्यादातर लोग दूसरी कार खरीदने के लिए प्रेरित हो सकते हैं।