रामायण और कृष्ण परिपथ पर राष्ट्रीय समिति का गठन (Constitution of National Committee on Ramayana And Krishna Circuits – Social Issues)

Download PDF of This Page (Size: 170K)

• हाल ही में स्वदेश दर्शन योजना के अंतर्गत रामायण और कृष्ण परिपथ पर राष्ट्रीय समिति की प्रथम बैठक हुई।

स्वदेश दर्शन योजना

• यह संस्कृति व पर्यटन मंत्रालय दव्ारा देश में थीम (विषय) आधारित पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए प्रारंभ की गई।

• इस योजना के अंतर्गत 13 अलग-अलग थीम (विषय) आधारित पर्यटन परिपथों को विकसित किया जाएगा।

• जिनमें पूर्वोत्तर, हिमाचली, तटीय, कृष्ण, मरुस्थलीय, आदिवासी, पारिस्थितिक, वन्यजीवन, ग्रामीण, आध्यात्मिक, रामायण और कृष्ण परिपथ सम्मिलित है।

रामायण परिपथ

• यह परिपथ विभिन्न राज्यों में भगवान राम से संबंधित स्थानों को सम्मिलित करता है, लेकिन इसका प्रमुख क्षेत्र उत्तर प्रदेश है।

• इस परिपथ में छ: राज्यों में स्थित ग्यारह स्थलों को शामिल किया जाना प्रस्तावित है।

• जिनमें अयोध्या, नंदीग्राम, श्रृंगेबरपुर तथा चित्रकूट (उ. प्र. में), सीतामढ़ी, बक्सर तथा दरभंगा बिहार में, कर्नाटक में हंपी तथा तमिलनाडु में रामेश्वरम प्रमुख हैं।

कृष्ण परिपथ

• इस परिपथ में विभिन्न राज्यों के अंतर्गत भगवान कृष्ण से संबंधित स्थान शामिल हैं।

• इसमें पांच राज्यों के 12 स्थलों को शामिल करने का प्रस्ताव किया गया है।

• इस परिपथ में गुजरात का दव्ारिका, राजस्थान में नाथदव्ारा, जयपुर तथा सीकर, हरियाणा में कुरूक्षेत्र, उत्तर प्रदेश में मथुरा, वृंदावन, गोकुल बरसाना, नंदगांव तथा गोवर्धन तथा उड़ीसा में पुरी शामिल हैं।