सांसद आदर्श ग्राम योजना (सांझी) (MP Model Village Scheme (Saanjhi) )

Download PDF of This Page (Size: 172K)

उद्देश्य

अपेक्षित लाभार्थी

मुख्य विशेषताएं

• प्रत्येक संसद सदस्य (एमपी) दव्ारा मार्च, 2019 तक 3 आदर्श ग्रामों (मॉडल ग्राम) का विकास, जिसमें से एक गाँव का विकास वर्ष 2016 तक पूर्ण करना होगा।

• इसके पश्चात प्रत्येक वर्ष एक गाँव का चयन करते हुए वर्ष 2024 तक कुल 5 आदर्श गाँवों का विकास करना।

• विशेष रूप से आदर्श ग्राम/मॉडल ग्राम के निवासी

• और सामान्य रूप से समस्त ग्रामीण जनसंख्या

• संसद सदस्य इस योजना के मुख्य कार्यकर्ता हैं और बने रहेंगे तथा ग्राम पंचायत इस योजना के विकास की आधारभूत इकाई होगी। मैदानी भागों में इसकी जनसंख्या 3000-5000 एवं पहाड़ी, जनजातीय एवं दुर्गम क्षेत्रों में 1000-3000 होनी चाहिए।

• एम पी को एक ग्राम पंचायत का चुनाव तुरंत करना होगा जबकि 2 अन्य का चुनाव वे कुछ अंतराल के बाद कर सकते हैं।

• महात्मा गांधी के सिद्धांतों एवं मूल्यों से प्रेरित यह योजना एक समान रूप से निम्न पर बल देती है

o राष्ट्रीय गर्व एवं देशभक्ति की भावना का विकास

o समुदाय की भावना, आत्मविश्वास और

o अवसंरचना का विकास

• सांझी कुछ निश्चित मूल्यों के विकास पर केन्द्रित है, जैसे-

o लोगों की भागीदारी,

o अन्त्योदय,

o लैंगिक समता, महिलाओं का सम्मान

o सामाजिक न्याय, सामुदायिक सेवा की भावना

o स्वच्छता, इको (अनुकरण करना)-फ्रेंडलीनेस, (मैत्रीभाव) पर्यावरणीय संतुलन बनाए रखना

o शांति एवं सौहार्द्र, आपसी सहयोग,

o आत्म-निर्भरता, स्थानीय स्व-शासन

o गाँवों एवं उनके निवासियों के सार्वजनिक जीवन में पारदर्शिता एवं उत्तरदायित्व, जिससे वह दूसरों के लिए मॉडल (आर्दश) बन सकें।

• यह योजना ग्राम विकास योजना के माध्यम से क्रियान्वित की जाएगी, जो हर चयनित ग्राम पंचायत के लिए तैयार की जाएगी।