प्रियदर्शिनी योजना (मध्य गंगा के मैदानी इलाकों में महिला सशक्तिकरण और आजीविका कार्यक्रम) (Priyadarshini Yojana –Government Plans)

Download PDF of This Page (Size: 168K)

उद्देश्य

अपेक्षित लाभार्थी

मुख्य विशेषताएं

• आजीविका में वृद्धि

• 7200 स्वयं सहायता समूहों के गठन के माध्यम से 108000 गरीब महिलाओं और किशोरियों के समग्र सशक्तिकरण की परिकल्पना

• क्षमता निर्माण के माध्यम से महिलाओं की राजनीति, कानूनी और स्वास्थ्य समस्याओं को हल करना

• महिलाएं

• महिलाओं के सशक्तिकरण के कारण ग्रामीण जनता

• बच्चे और लड़कियां: महिलाओं को बेहतर सेवाओं की वजह से

• उत्तर प्रदेश और बिहार में 4745 स्वयं सहायता समूह गठित किये गए हैं

• सामूदायिक सेवा केन्द्र (सीएससीएस)

• राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (एनएबीएआरडी) इस योजना के कार्यान्वयन के लिए नोडल एजेंसी है

• आय अर्जन और संबंधित गतिविधियों, उत्पादों के विपणन और सामाजिक मुद्दों आदि जैसे विषयों पर स्वयं सहायता समूह के सदस्यों को प्रशिक्षण

• महिला उद्यमियों को वित्तीय कार्यो के लिए, उदार शर्तों और रियायती ब्याज दर पर व्यापक ऋण सेवाओं की पेशकश की गयी है