प्रोजेक्ट (परियोजना) मौसम-संस्कृति मंत्रालय (Project weather-Sanskriti ministry – Government Plans)

Download PDF of This Page (Size: 173K)

उद्देश्य

अपेक्षित लाभार्थी

मुख्य विशेषताएं

• ’परियोजना मौसम’ (मौसम) का उद्देश्य हिंद महासागर के 39 देशों के साथ पार सांस्कृतिक संबंध स्थापित करना और ऐतिहासिक समुद्री, सांस्कृतिक और आर्थिक संबंधों को पुनजीर्वित करना है।

• वृहत स्तर पर इसका लक्ष्य हिंद महासागर क्षेत्र के देशों के बीच संचार संबंधों की पुनर्स्थापना करना है जिससे सांस्कृतिक मूल्यों और सरोकारों की समझ बेहतर हो। वहीं सूक्ष्म स्तर पर इसका ध्यान राष्ट्रीय संस्कृति को उनके क्षेत्रीय समुद्री परिवेश में समझना हैं।

• सांस्कृतिक संबर्धन से हिंद महासागर के 39 देशों के लोगों के मध्य मित्रता तथा वाणिज्यिक एवं धार्मिक

• आदान-प्रदान को बढ़ावा मिलेगा।

• भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) नोडल एजेंसी (कार्यस्थान) के रूप में इसे लागू करेगा।

• एएसआई को सहयोग निकायों के रूप में इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र (आईजीएनसीए) और राष्ट्रीय संग्रहालय से अनुसंधान सहायता मिलेगी।

• सरकार ने विश्व विरासत के लिए पार-राष्ट्रीय नामांकन हेतु 39 देशों की उन्हें एक साथ लाने हेतु पहचान की है।

• पूर्वी अफ्रीका से लेकर अरब प्रायदव्ीप, भारतीय उपमहादव्ीप और श्रीलंका एवं दक्षिण पूर्वी एशियाई दव्ीपसमूह तक फैले बहुआयामी हिन्द महासागर में होने वाले सांस्कृतिक, वाणिज्यिक एवं धार्मिक आदान-प्रदान की विविधता के प्रमाण के लिए पुरातात्विक और ऐतिहासिक अनुसंधान का मिलान करना।

• भारतीय नौसेना के नौवहन प्रशिक्षण पोत तरंगिनी और ओमान की रॉयल नौसेना ओमान नौवहन प्रशिक्षण पोत शबाब दव्ारा राजनयिक संबंधों के 60 वर्ष के उपलक्ष्य में

• 24 नवंबर से 03 दिसंबर, 2015 तक एक संयुक्त नौवहन यात्रा आयोजित की गयी।