Major International Relations India And The World – Part 1

Download PDF of This Page (Size: 176K)

हेग आचार संहिता (एचसीओसी) (Code of the Hague Code – International Relations India and the World)

बैलिस्टक मिसाइल (प्रक्षेपास्त्र) प्रसार के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय आचार संहिता जिसे हेग आचार संहिता (एचसीओसी) के रूप में भी जाना जाता है, बैलिस्टिक मिसाइलों के प्रसार को रोकने के लिए 2002 में बनाई गयी थी।

• एचसीओसी एक स्वैच्छिक आचार संहिता है, जो कानूनी रूप से गैर -बाध्यकारी है, और सामूहिक विनाश के हथियार के रूप में प्रयुक्त हो सकने वाली बैलिस्टिक मिसाइलों के प्रसार को रोकने का कार्य करती है।

• भारत जून 2016 में एचसीओसी शामिल हो गया।

• एचसीओसी पर हस्ताक्षर करने वालों की संख्या 138 है।

• चीन, पाकिस्तान, इजरायल और ईरान अभी तक इस स्वैच्छिक व्यवस्था में शामिल नहीं हुए हैं।

भारत - अफगानिस्तान (India – Afghanistan International Relations India and the World)

प्रधानमंत्री मोदी और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने संयुक्त रूप से अफगानिस्तान के हेरात प्रांत में अफगान -भारत मैत्री बांध का उद्धाटन किया। प्रधानमंत्री को अफगानिस्तान के सर्वोच्च नागरिक सम्मान आमिर अमानुल्लाह खान अवार्ड (पुरस्कार) से सम्मानित किया गया।

• अफगान सरकार ने 2015 में परियोजना का नाम सलमा बांध से बदलकर अफगान-भारत मैत्री बांध रख दिया है।

• 42 मेगावाट का ये बांध हेरात के कृषि और औद्योगिक क्षेत्रों को बढ़ावा देगा।

संस्थागत और बुनियादी ढांचे के निर्माण में भारत का योगदान

• भारत ने अफगानिस्तान के संस्थागत और बुनियादी ढांचे के विकास में करीब 2 अरब डॉलर का योगदान दिया है।

• इसने तापी पाइपलाइन परियोजना पर भी हस्ताक्षर किए है जो भारत को तुर्कमेनिस्तान से अफगानिस्तान और पाकिस्तान के माध्यम से प्राकृतिक गैस प्रदान करेगी।

• भारत के लिए अफगानिस्तान का अपार सामरिक महत्व है और ज्य़ादा ज़रूरी काबुल में एक मैत्रीपूर्ण, स्थिर शासन पाकिस्तान जैसे संदेहास्पद राज्य के खिलाफ भू राजनीतिक सुरक्षा है।