कॉल (पुकारना/मुलाकात) ड्रॉप (गिरावट) मुद्दा (Call Drop Currency –Science And Technology)

Download PDF of This Page (Size: 167K)

कारण

§ अपर्याप्त स्पेक्ट्रम (नीलामी) इस समस्या की जड़ है-भारत में दूरसंचार कंपनियों (जनसमूहों) के पास 12 मेगाहट्‌र्ज का स्पेक्ट्रम है जबकि वैश्विक औसत 40 मेगाहट्‌र्ज है।

§ यह सरकार दव्ारा स्पेक्ट्रम की जमाखोरी की वजह से है-उदाहरण के लिए, इस साल की नीलामी में केंद्र ने रक्षा मंत्रालय दव्ारा खाली किया गया सारा स्पेक्ट्रम नीलाम नहीं किया।

§ केंद्र ने हील ही में स्पेक्ट्रम के बंटवारे के लिए नीति को मंजूरी दी है, परन्तु नियम काफी जटिल हैं एवं बदलाव आना बहुत कठिन है।

§ नगर पालिका/निगम ने कई शहरों में विभिन्न कारणों से लगभग 10000 मोबाइल टावर हटा दिए हैं।

सरकार के कदम और समाधान

§ मोबाइल फोन टॉवरों की कमी को पूरा करना चाहिए-देश में वर्तमान में करीब 550000 टॉवर हैं तथा लगभग 100000 टॉवरों की और जरूरत है।

§ मोबाइल टावरो दव्ारा विकिरण के विषय में फ़ैल रही गलत सूचनाओं को ख़ारिज करने के लिए सरकार टॉवरों को सरकारी इमारतों के ऊपर लगाने पर सहमत हो गयी है। ट्राई ने कॉल ड्रॉप सहित ख़राब गुणवत्ता की मोबाइल सेवा देने पर दूरसंचार आपरेटरों पर लगने वाला जुर्माना 2 लाख तक बढ़ा दिया है।