जीका विषाणु (JICA Virus –Social And Technology)

Download PDF of This Page (Size: 169K)

उदभव:

• सर्वप्रथम 1947 में इसे यूगांडा के बंदरों में देखा गया।

• मनुष्यों में इसका पहला मामला 1954 में नाइजीरिया में पाया गया, इसके बाद इसका प्रकोप अफ्रीका, दक्षिण पूर्व एशिया और प्रशांत महासागरीय दव्ीपों में भी फ़ैल गया।

प्रभावित देश

• मई 2015 में ब्राज़ील में इसके मामलों की पुष्टि हुई और तब से यह तेज़ी से फ़ैल रहा है।

प्रसार चक्र (साइकिल)

• यह एडीज मच्छरों के काटने से फेलता है।

• ये मच्छर कनाडा और चिली, जहां अत्यधिक ठंड उन्हें जीवित नहीं रहने देती, को छोड़कर संपूर्ण अमेरिका में पाए जाते हैं।

• अगर ये मच्छर एक संक्रमित व्यक्ति का रक्त चूसने के बाद किसी अन्य व्यक्ति को काटते हैं तो उसे (दूसरे व्यक्ति को ) संक्रमित कर सकते हैं।

• मलेरिया फेलाने वाले मच्छरों के विपरीत, वे ज्यादातर दिन में सक्रिय होते हैं, इसलिए मच्छरदानी इनसे सीमित सुरक्षा ही प्रदान कर सकती है।

प्रभावित व्यक्ति

• इस वायरस के अधिकांश वाहक लक्षण रहित होते हैं।

• यह अत्यधिक सुभेद्य समूह-गर्भवती महिलाओं के लिए छिपा हुआ संक्रमण होता है, जिससे उनकी संतति भयंकर रूप से प्रभावित होती है।