भारत में विकलांगता (Disability In India – Social Issues)

Download PDF of This Page (Size: 163K)

सुुर्खियों में क्यों?

• प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नि:शक्तजनों को नामकरण ’विकंलाग’ बदलकर ’दिव्यांग’ करने का सुझाव दिया है।

• विकलांग लोगों के कई संगठनों ने ’दिव्यांग’ शब्द के उपयोग का विरोध किया है।

भारत में विकलांगता की परिभाषा

• नि:शक्त व्यक्ति अधिनियम 1995 सात श्रेणियों के तहत विकलांगता को परिभाषित करता है-अंधापन, कम दृष्टि, कुष्ठ रोग-उपचारित, बहरापन, लोकोमोटर डिसएबिलिटी, मानसिक मंदता और मानसिक बीमारी।

• 2001 की जगणना के अनुसार भारत की लगभग 2.21 प्रतिशत जनसंख्या विकलांग हैं।