शैक्षिणिक नेटवर्क की वैश्विक पहल (Global Initiative of Academic Network – Social Issues)

Download PDF of This Page (Size: 167K)

• लक्ष्य: अंतराष्ट्रीय सहयोग के माध्यम से देश में उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ावा देना है।

• देश में उच्च शिक्षा संस्थानों को उत्प्रेरित करने के लिए ज्ञान की परिकल्पना की गई है और आरंभ में इसमें सभी आईआईटीएस/आईआईएमस, केंद्रीय विश्वविद्यालय, आईआईएससी बेंगलौर, आईआईएसईआरएस और एनआईटीएस सम्मिलित होंगे और आगे चलकर उत्कृष्ट राज्य विश्वविद्यालयों को भी सम्मिलित किया जाएगा।

• रूस, जापान, सिंगापुर, स्वीडन, स्विट्‌जरलैंड, पुर्तगाल, नीदरलैंड, मलेशिया और दक्षिण कोरिया जैसे 38 देशों के विभिन्न संकायों (फेकल्टी) दव्ारा पाठ्‌यक्रम संचालन किया जायेगा और वे भारतीय संस्थानों में अनुसंधान भी करेंगे।

• मेजबान संस्थान के छात्रों के लिए पाठ्‌यक्रम निशुल्क हैं, दूसरी संस्थाओं के छात्रों के लिए नाममात्र का शुल्क होगा और साथ ही सीधा वेब प्रसारण भी होगा।

• बाद में इन व्याख्यानों को स्टडी (अध्ययन करना) वेब्स ऑफ एक्टिव (तैयार)-लर्निंग (अध्ययन से प्राप्त ज्ञान: जानकारी) फॉर (व्यक्ति/ वस्तु, और समय के लिए) एम्पायरिंग माइंड्‌स (विशेष प्रकार की मनोदशा बताते हुए) (swayam), MOOCS प्लेटफोर्म (स्थान) और राष्ट्रीय डिजिटल (अंको दव्ारा संख्या/मात्रा व्यक्त करना) पुस्तकालय के माध्यम से देश भर के छात्रों को उपलब्ध कराया जाएगा।

• इलेक्ट्रॉनिक (विद्युतिकरण) पंजीकरण और ऑनलाइन आंकलन के लिए आई.आई.टी. खड़गपुर ने वेब पोर्टल (GIAN,IITKGP-AC.IN) भी डिजाइन (रूपरेखा) किया है।

• आई.आई.टी. खड़गपुर इस प्रमुख कार्यक्रम का नोडल संस्थान और राष्ट्रीय समन्वयक है।