Major Social Issues – Part 1

Download PDF of This Page (Size: 177K)

मातृ एवं नवजात टिटनेस में कमी (Decrease in Maternal and Newborn Tetanus – Social Issues)

• विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार मातृ एवं नवजात टिटनेस (एमएनटी)अब दक्षिण -पूर्व एशिया क्षेत्र मेें एक बड़ी समस्या नहीं है।

• जिला स्तर पर मातृ एवं नवजात टिटनेस के कारण होने वाली मौतें प्रति हजार जन्मों पर एक रह गयी है।

• 1989 में दुनिया में मातृ एवं नवजात टिटनेस की वजह से 7,87,000 नवजात शिशुओं की मृत्यु हुई थी।

• प्रसव के दौरान अस्वच्छ स्थिति और अपर्याप्त गर्भनाल देखभाल मां और बच्चें में इस रोग का मुख्य कारण हैं। यह रोग क्लोस्ट्रीडियम टिटानी नामक जीवाणु के कारण होता है।

• लॉकजॉ, मांसपेशियों में ऐंठन, बुखार, तेज धड़कन, पसीना आना और उच्च रक्तचाप इस रोग के लक्षण हैं।

• टीकाकरण और मातृ एवं नवजात शिशु देखभाल की गुणवत्ता बढ़ाना इस रोग के उन्मूलन के लिए महत्वपूर्ण है।

’गुड कंट्री’ (अच्छा देश) 2015 सूचकांक (Good Country 2015 Index – Social Issues)

• ’गुड कंट्री’ 2015 सूचकांक, एक छमाही सूचकांक है। यह सूचकांक प्रत्येक देश दव्ारा अपने आकार के सापेक्ष मानवता की भलाई में किये गए योगदान के साथ-साथ कमियों का भी मूल्यांकन करता है।

• यह सूचकांक यूएन और विश्व बैंक की 35 विभिन्न सूचियों के आधार पर मूल्यांकन करता है, जिनमें विज्ञान, संस्कृति, शांति और सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन, एवं स्वास्थ्य और समानता के क्षेत्र में वैश्विक योगदान सम्मलित होते हैं।

• अपने नागरिकों के हितों के लिए कार्य और वैश्विक भलाई के मामले में योगदान की दृष्टि से स्वीडन सर्वोत्तम देश है।

• 163 देशों की सूची में भारत चीन से तीन स्थान पीछे 70वें स्थान पर है। इस सूचकांक में भारत ने ’अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा’ के क्षेत्र में अपना सर्वश्रेष्ठ स्थान (27वाँ) प्राप्त किया है वहीं, ’समृद्धि और समानता’ में निम्नतम स्थान (27वाँ) प्राप्त किया है।

• लीबिया का स्थान विश्व में सबसे कम ”अच्छे” देश के रूप में रहा है।