किसानों को जिंस वायदा बाजार में लाभ (Farmers Benefit in Commodity Futures Market – Economy)

Glide to success with Doorsteptutor material for IAS : Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

सुर्ख़ियों में क्यों?

इस मुद्दे पर एसोचैम दव्ारा आयोजित 14 वें कमोडिटी (वस्तु) वायदा बाजार शिखर सम्मेलन 2016 में चर्चा की गई।

जिंस वायदा बाजार के लाभ

• अच्छी तरह से विकसित जिंस वायदा बाजार किसान कल्याण सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक है क्योंकि किसानों में सौदेबाजी शक्ति की कमी है और उनमें बाजार की स्थितियों के बारे में सीमित जागरूकता होती है।

• यह उन्हें उनकी कमाई के पूर्वानुमान में और उनके भविष्य के निवेश की योजना बनाने में मदद करेगा।

• ये बाजार कीमतों में मौसमी बदलाव को नियंत्रित करेंगे।

• ये फसल कटाई के बाद कीमतों में मंदी से किसानों की रक्षा करते हैं।

वायदा बाज़ार में भारतीय किसानों की भागीदारी निराशाजनक क्यों है?

• मूल्य जोखिम से बचाव-व्यवस्था में विशेषज्ञता की कमी के कारण।

• मार्जिन आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए पर्याप्त बिक्री योग्य अधिशेष और पर्याप्त नकदी का न होना।

• अक्षम भौतिक संचालन, बिचौलियों की अत्यधिक संख्या, लंबी और खंडित बाजार चेन ने किसानों को उनकी उपज के उचित मूल्य से वंचित कर दिया है।

Developed by: