वन अधिकार अधिनियम 2006-जनजातीय कार्य मंत्रालय दव्ारा कार्यान्वित (Forest Rights Act 2006-Executed by the Ministry of Tribal Affairs – Government Plans)

Download PDF of This Page (Size: 183K)

उद्देश्य

अपेक्षित लाभार्थी

मुख्य विशेषताएं

• लाभार्थियों के वन अधिकार को मान्यता प्रदान करना

• 13 दिसंबर, 2005 से पूर्व वन भूमि पर काबिज अनुसचित जनजाति के सभी समुदायों को वनों में रहने और आजीविका का अधिकार देना।

• जंगल निवासी अनुसुचित जनजाति और अन्य परंपरागत वनवासी

• जंंगल निवासी अनुसूचित जनजाति और अन्य परंपरागत वनवासियों को अधिकार दिए गए

• इस काूनन को एक ”कैम्पेन (अभियान) मोड” (ढंग/रीति) में लागू किया गया और राज्यों को समयबद्ध तरीके से लाभार्थियों को वन अधिकार सौंपने और मान्यता देने की प्रक्रिया को पूरा करने हेतु विस्तृत मंत्रणा प्रदान की गयी

• ग्र्राम सभा दव्ारा गठित वन अधिकर समिति

• परस्पर विरोधी दावों पर ग्राम सभा, उप संभागीय स्तरीय समिति और जिला स्तरीय समिति दव्ारा निर्णय

वन अधिकार

• जंगलवासी अनुसूचित जनजाति और अन्य परंपरागत वनवासियों दव्ारा निवास या जीविका के लिए स्वयं खेती करने के लिए व्यक्तिगत या सामूहिक अधिभोग के अधीन वन-भूमि को धारित करने और उसमें रहने का अधिकार

• वन संसाधनों पर नियंत्रण का अधिकार जिसमें स्वामित्व अधिकार के साथ गौण वनोपज के संग्रह, उपयोग और निपटान का अधिकार शामिल है

• निस्तार जैसे सामुदायिक अधिकार;

• आदिम जनजातीय समूहों और ऐसे समुदायों जिन्हें अभी तक कृषि कार्य का ज्ञान नहीं है को आवास अधिकार;

• ऐेसे सामुदायिक वन संसाधन को संरक्षित, पुनजीर्वित या प्रबंधित करने का अधिकार, जिसकी वे सतत उपयोग के लिए परंपरागत रूप से रक्षा और संरक्षण कर रहे हैं।

Get top class preperation for IAS right from your home- Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

Developed by: