Science & Technology: Gravity Recovery and Interior Laboratory

Get top class preparation for IAS right from your home: Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

अद्यतन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी (Latest Development in Science & Technology)

ग्रेल (GRAIL: Gravity Recovery and Interior Laboratory)

अमेरिका अ्रंतरिक्ष एजेंसी नासा ने 10 सितंबर, 2011 को जुड़वा उपग्रहों का प्रक्षेपण फ्लोरिडा के केप केनवरल एयरफोर्स स्टेशन से डेल्टा दव्तीय रॉकेट के जरिए चंद्रमा के भीतरी सतह के अध्ययन के लिए किया। चंद्रमा के इनर कोर मैपिंग मिशन पर भेजे गए इन उपग्रहों को जीआरएआईएलए और जीआरएआईएल बी नाम दिया गया है। ग्रेल मिशन वर्ष 2002 में छोड़े गए ग्रेस (GRACE:) यानी सौर पवन (सोलर सुनामी) के निर्माण के कारणों की जांच करेगा, साथ ही यह जानकारी लेगा कि सूर्य का बाह्‌य वायुमंडल यानी कोरोना उसकी सतह की अपेक्षा अधिक गर्म क्यों रहता है।

सनवे ब्लूलाइट (Sunway Blue Light)

प्रति सेकंड एक हजार ट्रिलियन गणनाएं करने में सक्षम चीन के पहले सुपर कम्प्यूटर का नाम है। यह सुपर कम्प्यूटर जियान में स्थित नेशनल सुपर कम्प्यूटर सेंटर में स्थापित किया गया है। इसमें 8,700 सेनवी (SW1600) माइक्रोप्रोसेसर को प्रयुक्त किया गया है। यह चीन का पहला ऐसा सुपर कम्प्यूटर है जिसमें चीन निर्मित माइक्रोपोसेसर लगा है। यह सुपर कम्प्यूटर प्रतिसेकंड 1000 ट्रिलियन गणना करने में सक्षम है।

कार्बन इंडेक्स (Carbon Index)

17 नवंबर, 2011 को बांबे स्टॉक एक्सचेंज दव्ारा शुरू किया गया एक इंडेक्स है जिसका उद्देश्य जलवायु परिवर्तन एवं कार्बन रेगुलेशन से जुड़े जोखिमों एवं अवसरों के विश्लेषण के लिए विशेषज्ञता के निर्माण में मदद करना है। यह इंडेक्स यह समझने में मददगार साबित होगा कि किस प्रकार निम्न कार्बन ट्रैजेक्टरी पर विकास हासिल किया जा सकता है और इस संदर्भ में व्यापार किस तरह की भूमिका का निर्वाह कर सकता है। किसी भी उभरती अर्थव्यवस्था में यह इंडेक्स सृजित करने का यह पहला प्रयास है।

आईएलओ-एक्स (ILO-X)

आईएलओ-एक्स चंद्रमा पर लगाई जाने वाली विश्व की पहली ऑप्टिकल स्पेस दूरबीन है जो चंद्रमा की सतह से पृथ्वी पर खगोलीय तस्वीरें भेजेगी। इस वर्ष 2014 तक चन्द्रमा पर प्रक्षेपित किया जाना लक्षित है। इस दूरबीन का प्रायोगिक परीक्षण हवाई दव्ीप पर किया गया।

एसजीके-1 (SGK-1)

ब्रिटिश वैज्ञानिकों दव्ारा मानव शरीर में फर्टीलिटी स्विच की भूमिका निभाने वाले एक विशेष एंजाइम की खोज की गई है जिसे न केवल बांझपन एवं अनचाहे गर्भपात की समस्या से जूझ रही महिलाओं का इलाज संभव हो सकेगा बल्कि नई गर्भ निरोधक गोलियों का निर्माण भी सुनिश्चित हो सकेगा।

स्पेस इंटरफेरोमेट्री मिशन (Space Interferometry Mission)

नासा का यह एक नवीनतम अंतरिक्ष अनुसंधान यान मिशन है जिसका उद्देश्य अन्य तारों के इर्द-गिर्द पृथ्वी के समान ग्रहों का पता लगाना तथा आकाशगंगाओं के परिशुद्ध मापन से डार्क मैटर की खोज करना है।

सोफिया (SOFIA: Stratospheric Observatory for Infrared Astronomy)

विश्व की प्रथम वायुयान आधारित दूरबीन, जो अमेरिकी अंतरिक्ष संस्था ‘नासा’ एवं जर्मन एयरोस्पेस केन्द्र की एक संयुक्त परियोजना है। सोफिया दूरबीन एक बोइंग 747 वायुयान में लगाई गई है जिसे 2.5 मीटर व्यास वाली परावर्तक ले जाने के लिए संसोधित किया गया है। यह दूरबीन वर्ष 2014 तक कार्य करेगी। इस दूरबीन के दव्ारा विभिन्न खगोलीय घटनाओं का अध्ययन किया जाएगा।

सोलर प्रोब प्लस (Solar Probe Plus)

अमेरिका दव्ारा विशेष काब्रन शंकुल सीट से निर्मित कार के आकार का एक यान है जो मूल रूप से सूरज से उठती सोलर पिंड है।

न्यू देहली मेटालो बीटा लेक्टामस (NDM-1)

यह अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य पत्रिका ‘लासेंट’ दव्ारा नई दिल्ली के अस्पतालों में मिले सुपरबग का नाम है। यह सुपरबग सर्वप्रथम भारतीय मूल के स्वीडिश नागरिक में वर्ष 2008 में खोजा गया था। यह सुपरबग विभिन्न एंटीबायोटक दवाओं के लिए प्रतिरोधी होता है, जिससे व्यक्ति के इलाज में देरी होती है।

एचआईवी स्टिगमा इंडेक्स (HIV Stigma Index)

तमिलनाडु राज्य ने एचआईवी के प्रति भेदभाव से लड़ने के लिए एचआईवी स्टिगमा इंडेक्स को विकसित किया है। यह इंडेक्स एच. आई. वी. से ग्रसित लोगों के प्रति भेदभाव तथा एच. आई. वी. से ग्रसित लोगों के अधिकारों की सम्मिलित सूचनाओं पर अधारित है।

फैंटम आई (Phantom Eye)

यह अमेरिका की बोइंग फेंडम वर्क दव्ारा निर्मित ड्रोन विमान की वह नई किस्म है जो 65 हजार फुट पर उड़ने की क्षमता के साथ 4 दिन तक हवा में रहने में सक्षम है। बेकार पदार्थ के रूप में सिर्फ पानी निकालने वाले इस विमान में ईंधन के रूप में हाइड्रोजन का इस्तेमाल होगा।

स्कवायर किलोमीटर एर (SKA: Square Kilometer Array)

आइबीएम अब तक का सबसे बड़ा रेडियोटेलिस्कोप तैयार कर रहा है जिससे एक दिन में अब तक इंटरनेट पर उपलब्ध आकंड़ों का दोगुना डाटा तैयार किया जा सकेगा। नीदरलैंडस इंस्टीटयूट ऑफ रेडियो एस्ट्रोनॉमी (एस्ट्रॉन) के साथ मिलकर वर्ष, 2024 तक तैयार होने वाले इस प्रोजेक्ट को स्क्वायर किलोमीटर एर (SKA) नाम दिया गया है।

भारती (Bharati)

‘दक्षिण गंगोत्री’ व ‘मैत्री’ के पश्चात्‌ दक्षिण ध्रुव (अंटार्कटिक) में भारत ने अपना तीसरा अनुसंधान केन्द्र स्थापित कर लिया है। ‘भारती’ नाम के इस अनुसंधान केन्द्र का औपचारिक उद्घाटन अभी यद्यपि नहीं हुआ है, तथापि परीक्षण के तौर पर कार्य वहां शुरू हो गए हैं। राजेश अस्थाना के नेतृत्व में भारतीय वैज्ञानिकों के 15 सदस्यीय दल ने 18 मार्च, 2012 से ही वहां परीक्षण कार्य शुरू कर दिया है। ‘भारती’ की स्थापना लार्समैन हिल (Larseman Hills) क्षेत्र में की गई है, यह शिमाकर क्षेत्र में स्थित ‘मैत्री’ से लगभग तीन हजार किमी दूर है। ‘भारती’ अनुसंधान केन्द्र का सेवाकाल 25 वर्ष निर्धारित किया गया है।

वारयाग (Varyag)

चीन अब अपनी नौसेना में एक विमान वाहक पोत शामिल करने जा रहा हैं। इसके समुद्री परीक्षण वर्ष, 2011 के अंत तक शुरू किए गए हैं। सफल परीक्षणाेें के उपरांत वर्ष, 2012 - 13 में इसे औपचारिक रूप से नौसेना में शामिल किया जाना संभावित है। 67,500 टन विस्थापन क्षमता वाला ‘वारयाग’ (Varyag) नाम का यह युद्धपोत तत्कालीन सोवियम संघ में 1980 के दशक में बना था। चीन ने इसे सन्‌ 1998 में यूक्रेन से अर्द्धनिर्मित अवस्था में ही खरीदा था। चीन की नौसेना में इसे शी लांग (Shi Lang) नाम से शामिल किया जाएगा। (Gravity Recovery and Climate Experiment) मिशन के आकंड़ो को प्रयुक्त करेगा। ग्रेल के प्रमुख सलाहकार मारिया जुबेर (Maria Zuber) हैं। यह मिशन नासा दव्ारा चाँद पर मानव के भेजने में सहायक सिद्ध होगा।

Developed by: