स्मार्ट ग्रिड (आर्कषक झाली) (Smart Grid (Attractive Lattice) – Science and Technology)

Glide to success with Doorsteptutor material for CTET-Hindi/Paper-1 : get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CTET-Hindi/Paper-1.

स्मार्ट ग्रिड परियोजना के बारे में

• यह परियोजना स्मार्ट सिटी पहल का एक हिस्सा है।

• इस परियोजना को तीन चरणों में बांटा गया है:

• पुराने उपकरणों और तारों की जगह नए उपकरण लगाना

• घरों में स्मार्ट मीटर (लंबाई की इकाई/बिजली, पानी नापने का यंत्र) का अधिष्ठापन

• बिजली वितरण की दक्षत में सुधार करने के लिए सॉफ्टवेयर का विकास।

• नई दिल्ली नगर निगम के स्मार्ट सिटी प्रस्ताव का एक प्रमुख आकर्षण अपने विद्युत नेटवर्क को एक स्मार्ट ग्रिड (आकर्षक जाली) प्रणाली में अपग्रेड करने की योजना है।

• यह स्मार्ट ग्रिड नेटवर्क उपभोक्ताओं और बिजली कंपनियों (जनसमूह) के बीच दो तरफा संचार की सुविधा देगा।

• यह एक सहज प्रणाली में उत्पादन, पारेषण, वितरण प्रणाली, और उपभोक्ताओं के साथ ही साथ नवीकरणीय स्त्रोतों इत्यादि सभी को एकीकृत करके उनके बीच तालमेल लाएगा।

• प्रणाली का एक महत्वपूर्ण पहलू 100 प्रतिशत एडवांस (आगे रखना) मीटिरिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर (बुनियादी संरचना) (ए. एम. आई.) है, जो उपभोक्ताओं को वास्तविक समय में बिजली की खपत के बारे में आंकड़े देगा जिससे उन्हें उपयोग के बारे में सुविज्ञ विकल्प चुनने में सहयोग मिलेगा।

• उपभोक्ताओं को कैसे मदद मिलेगी इसका एक बुनियादी उदाहरण इस प्रकार है: वे समस्या निवारण सहित अन्य विकल्पों के लिए सीधे अपने ऊर्जा मीटर में कमांड (आदेश) देने के लिए सक्षम हो जाएंगे।