स्मार्ट पेपर (आर्कषक कागज़) (Smart Paper – Science And Technology)

Glide to success with Doorsteptutor material for IAS : Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

Download PDF of This Page (Size: 136K)

• वैज्ञानिकों ने स्मार्ट कागज विकसित किया है, जोकि संवेदन क्षमताओं से मुक्त एक उच्च तकनीक पालीप्रोपिलीन सिंथेटिक (अप्राकृतिक) कागज है। यह संकेत आदेशों का जवाब दे सकता है और डिजिटल (अँगुली संबंधी) दुनिया से जुड़ सकता है।

• यह विधि छोटे सस्ते रेडियो आवृत्ति (आरएफआईडी) टैग (मूल्य) पर निर्भर करती है, जोकि प्रभावी और हल्के विद्युत परिपथ बनाने के लिए, कागज पर मुद्रित, अंकित या धंसे रहते हैं।

• ये विद्युत परिपथ सेंसर (संवदेन) में बदल जाते हैं, जो कि विशिष्ट गतियों की पहचान कर सकते हैं, और संकेत रुकावटों को विशेष आदेश के रूप में वर्गीकृत कर सकते हैं।

• यह तकनीक जिसे पेपर (कागज़) आईडी (पहचान करना/परिचय) तकनीक के रूप में जाना जाता है पहले से तैयार आरएफआईडी टैग के प्रयोग को बढ़ावा देगी। द्रष्टव्य है कि इस तकनीकी के प्रयोग के लिए बेटरी (जिसके सेलों में विद्युत धारा बहती है) की आवश्यकता नहीं होगी किन्तु एक रीडर (पाठक) डिवाइस (विशेष प्रयोजन के लिए निर्मित वस्तु) के प्रयोग के माध्यम से प्रयुक्त होने वाले टैग की पहचान की जा सकेगी।

• इस तकनीक के माध्यम से पेपर (कागज़) एरोप्लेन (हवाई जहाज) तथा कक्षा सर्वेक्षण फॉर्म (छपा हुआ प्रपत्र/दर्जा/विशेष गठन) जैसे वास्तविक जगत की सामान्य वस्तुओं को इंटरनेट जैसे माध्यम से जोड़ा जा सकेगा।

• यह नई तकनीक कागज पर उपयोग करने तक सीमित नहीं है। यह सुरक्षा टैग (मूल्य/पता आदि दर्शाने वाला लेबल) मेनू (कंम्यूटर में कार्य करने के लिए उपलब्ध कार्यों की सूची) आवरण, चार्ट (लेखा), नियमावली और सामान में प्रयोग किये जाने वाले टैग के लिए आदर्श है।

Developed by: