मंगल अभियान (मंगलयान) (Tue Campaign (Mars Orbiter) – Science And Technology)

Glide to success with Doorsteptutor material for IAS : Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

Download PDF of This Page (Size: 150K)

• मिशन ऑन (समीप) मार्स (मंगल ग्रह) (एमओएम) अभियान भारत का प्रथम अंतराष्ट्रीय अभियान है। इसका उद्देश्य मंगल की सतह का अध्ययन तथा इसकी भू-आकृतिक संरचना की जानकारी जुटाना हैं। यह मंगल के वातावरण का अध्ययन करेगा जो इसके वातावरण में उपस्थित मीथेन के संदर्भ में जीवन की भूतकाल में उपस्थित अथवा भविष्य की संभाव्यता पर केन्द्रित होगा।

विशेषताएँ

• यह ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान पीएसएलवी -सी 25 के दव्ारा प्रक्षेपित किया गया।

• 1,350 किलों ग्राम वजन वाले मंगलयान की कुल लागत 450 करोड़ रुपयें है। मंगलयान के दव्ारा 300 दिनों की यात्रा में कुल 65 करोड़ किमी. की दूरी तय की गई।

• यह अपने साथ पाँच विशिष्ट यंत्रों को ले गया।

• लाइमन-अल्फा फोटोमीटर (एलएपी)

• मीथेन सेन्सर फॉर मार्स (एमएसएम)

• पर्यावरणीय सूक्ष्म कण संबंधी अध्ययन के लिए मार्स एक्जोस्फेरिक न्यूट्रल कम्पोजीशन एनलाइजर (एमईएनसीए),

• सतह प्रतिचित्रण संबंधी अध्ययन के लिए, थर्मल इन्फ्रोरेड इमेजिंग स्पेक्ट्रोमीटर (टीआईएस)

• मार्स कलर कैमरा।

ज्ञात होने वाले महत्वपूर्ण तथ्य

• मंगल पर जल उपलब्धता के चिन्ह

• मंगल पर जीवन की संभाव्यता में वृद्धि।

• मंगल ग्रह के उच्च गुणवत्ता के चित्रों का प्रकाशन।

Developed by: