बाल विवाह पर जनगणना रिपोर्ट (Census Report on Child Marriage – Social Issues)

Doorsteptutor material for IAS is prepared by world's top subject experts: Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

Download PDF of This Page (Size: 146K)

सुर्ख़ियों में क्यों?

2011 की जनगणना से पता चलता है कि भारत में बड़े पैमाने पर बाल विवाह होते हैं, लगभग एक तिहाई विवाहित महिलाओं की शादी 18 वर्ष से कम की आयु में हो गयी थी।

मुख्य निष्कर्ष

• 78.5 लाख लड़कियों की शादी 10 वर्ष से कम की आयु में ही कर दी गयी थी। यह 2011 तक विवाहित महिलाओं का 2.3 प्रतिशत है।

• 91 प्रतिशत विवाहित महिलाओं की शादी 25 वर्ष की उम्र तक हो गयी थी।

• 30.2 प्रतिशत विवाहित महिलाओं (10.3 करोड़) की शादी 18 वर्ष की उम्र से पहले कर दी गयी थी।

• 2001 की जनगणना के आंकड़ों के मुताबिक, 43.5 प्रतिशत विवाहित महिलाओं की शादी 18 वर्ष की उम्र से पहले कर दी गयी थी।

धर्म के अनुसार आंकड़े

• 31.3 प्रतिशत विवाहित हिन्दू महिलाओं की शादी 18 वर्ष की उम्र से पहले हो गयी थी, 2001 की जनगणना में यह आंकड़ा 45.1 प्रतिशत था।

• 30.6 प्रतिशत विवाहित मुस्लिम महिलाओं की शादी 18 वर्ष की उम्र से पहले हो गयी थी, 2001 की जनणना में यह आंकड़ा 43.1 प्रतिशत था।

• 12 प्रतिशत विवाहित ईसाई महिलाओं और 10.9 प्रतिशत विवाहित सिख महिलाओं की शादी 18 वर्ष की उम्र से पहले कर दी गयी थी।

साक्षरता: 38.1 प्रतिशत अनपढ़ विवाहित महिलाओं की शादी 18 वर्ष से कम की आयु में हो गयी थी, जबकि साक्षर विवाहित महिलाओं के लिए यह प्रतिशत 23.3 प्रतिशत हैं।

Developed by: