Regional Development and Planning, Idea of a Region, Categorization of Region

Glide to success with Doorsteptutor material for CTET-Hindi/Paper-2 : get questions, notes, tests, video lectures and more- for all subjects of CTET-Hindi/Paper-2.

Idea of a Region

प्रदेश की संकल्पना

  • प्रदेश का वर्गीकरण
  • वर्गीकरण की विधियाँ
  • प्रादेशिक संतुलन

प्रदेश की संकल्पना:-प्रदेश का अर्थ है वह क्षेत्रिय इकाई जहाँ समरूपता केन्द्र की ओर अधिक एवं विषमतायें परिधि क्षेत्र की ओर वृद्धि करती है।

  • प्रदेश एक मानसिक संकल्पना है जो भू दृश्य के विषमताओं एवं यादृच्छिकी में श्रेणीबद्धता एवं समरूपता का चयन करता है। प्रदेश की सीमायें मुख्यत: संक्रमण क्षेत्र होती है क्योंकि भौगोलिक परिघटनाओं के संक्रमित भाग व्याप्त होते है। यह सीमा रेखांकित रूप में भी प्राप्त हो सकती है।
  • जैसे-सवाना एवं उष्ण मरूभूमि के मध्य संक्रमण सीमा है। इसकी प्रशासनिक सीमा रेखीय हो सकती है।
  • प्रदेश की संकल्पना को दो प्रकार से विश्लेषित किया जाता है-
    • Subjective (विषय परक) :-यदि प्रदेश एक मानसिक संकल्पना अथवा भावनात्मक विचार के रूप है तो इसकी सीमा का निर्धारण नहीं हो सकता अथवा सीमा संक्रमण क्षेत्र होती है इस अर्थ में प्रदेश विषय परक होता है।
    • वस्तु परक:- जो प्रदेश भावात्मक न होकर वास्तविक होते है एवं उनके निर्धारित प्रतिमानों का सांख्कीिय विश्लेषण होता है तथा ये रेखांकित सीमाओं से युक्त होते है।
  • प्रदेश का निर्माण प्रादेशिक संश्लेषण एवं क्षेत्रीय विभेदन पर निर्भर करता है जिसका अर्थ है समरूपी तत्वों का सामान्यीकरण एवं एक भौगोलिक चित्र की उत्पत्ति जो अपने-समीपवर्ती भूदृश्य से लक्षणों में पृथक होता है अर्थात प्रदेश लक्षण युक्त एवं स्वविशेषताओं से रचित होते हैंै।

Categorization of Region

प्रदेश का वर्गीकरण

Categorization of Region