ऑस्ट्रेलिया का भूगोल (Geography of Australia) Part 11 for Competitive Exams

Glide to success with Doorsteptutor material for IAS : Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

Download PDF of This Page (Size: 160K)

जनसंख्या-

सही अर्थों में पूर्वी ऑस्ट्रेलिया मानवीय अधिवास का क्षेत्र है, तथा पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया प्रतिकूल परिस्थितियों का क्षेत्र है। यह गोरे लोगों का देश है। ऑस्ट्रेलिया की खोज पहले तस्मान महोदय ने 1641 में की, जबकि पूर्वी तट पर जाने का श्रेय कुक महोदय (1770) को जाता है। यहाँ की अधिकतर जनसंख्या यूरोपिय है तथा प्रोटेस्टेंट (प्रतिवाद करने वाला) धर्मावलंबी है। 1007-08 के आसपास यहाँ गोल्ड (स्वर्ण) रेस (दौड़) के दौरान बहुत चीनी लोग आए, जिसे यूरोपियनों ने भगा दिया। 1948 में ऑस्ट्रेलिया ने वाईट (सफेद) ऑस्ट्रेलियन पॉलिसी (नीति)-1948 की घोषणा की, जिसे 1988 में तोड़ दिया गया तथा नाम दिया-मोडिफाइड (संशोधित) वाईट ऑस्ट्रेलियन पॉलिसी (नीति), जिसमें नस्लवाद के आधार पर भेदभाव को खत्म कर दिया। यहाँ फिलीपिन्स से बहुत लोग आए हैं। यहाँ ऑस्ट्रेलियन एबोरजिन्स और यूरोपियनों में तनाव की स्थिति है। ऑस्ट्रेलियन एबोरजिन्स प्रोटो (आद्य) ऑस्ट्रलियाड समूह के हैं। उत्तरी ऑस्ट्रेलिया को छोड़कर संपूर्ण महादव्ीप की 80 प्रतिशत जनसंख्या बड़े-बड़े कस्बों व नगरों में बसी है।

  • दक्षिण ऑस्ट्रेलिया में उष्ण शुष्क स्थानीय हवा चलती है, जिसे ब्रिक (रोड़ा) फिल्डर्स (कार्यक्षेत्र) कहा जाता है।

  • दक्षिण -पूर्व ऑस्ट्रेलिया में चलने वाली ठंडी एवं शुष्क स्थानीय पवन को सदर्न बस्तर्स कहा जाता है।

  • ऑस्ट्रेलिया के उत्तर -पश्चिमी तट के साथ विली-विलीज नामक उष्ण कटिबंधीय चक्रवात चलते हैं।

  • फ्लिंडर्स पहाड़ियाँ, ब्रोकेन हिल आदि ऑस्ट्रेलिया के अवशिष्ट पर्वत हैं।

  • ऑस्ट्रेलिया में सिंचाई सीमित क्षेत्रों में होती है। इसके बावजूद कुल कृषि भूमि के 90 प्रतिशत भाग पर सिंचाई की सुविधा उपलब्ध है। 85 प्रतिशत सिंचित क्षेत्र विक्टोरिया एवं न्यू साउथ वेल्स में मुख्यत: मर्रे घाटी में है।

  • पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया में पिलवारा जमाव लौह अयस्क के सिंचित भंडार की दृष्टि से महत्वपूर्ण है।

  • तस्मानिया में स्थित माउण्ट विश्चाक खान टीन के उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है।

  • ऑस्ट्रेलिया में हंटर घाटी कोयला उत्पादन में महत्वपूर्ण स्थान रखता है। हंटर घाटी को ऑस्ट्रेलिया का रुर कहा जाता है।

  • ऑस्ट्रेलिया में कृषि भूमि का प्रतिशत काफी कम (3.5 प्रतिशत) है।

  • ऑस्ट्रेलिया के आंतरिक भाग में भेड़ पालन एवं क्वींसलैंड तथा उत्तरी प्रांत के उपोष्ण चारागाहों में गौ-पालन महत्वपूर्ण है।

  • ऑस्ट्रेलिया में कुल कृषि भूमि के लगभग 25 प्रतिशत भाग पर गेहूँ की कृषि की जाती है। न्यू साउथ वेल्स गेहूँ का सबसे बड़ा उत्पादक है।

  • ऑस्ट्रेलिया में गन्ने की कृषि मुख्यत: क्वींसलैंड के पूर्वी तटीय क्षेत्रों में की जाती हैं। ऑस्ट्रेलिया अपने उत्पादन का 40 प्रतिशत से अधिक चीनी निर्यात कर सकता है।

  • ऑस्ट्रेलिया में भेड़ों की कुल संख्या का 45 प्रतिशत न्यू साउथ वेल्स एवं 29 प्रतिशत विक्टोरिया में पाई जाती है।

  • ऑस्ट्रेलिया के कुल मांस पशुओं का लगभग 50 प्रतिशत भाग क्वींसलैंड के सवाना प्रदेश में स्पीयरग्रास तथा ब्रिगालो घास क्षेत्रों में है। यहाँ रॉक हैम्पटन मांस उद्योग का केन्द्र हैं।

  • न्यू साउथ वेल्स में ऊन एवं विक्टोरिया में दूध का उत्पादन सर्वाधिक होता है।

प्रमुख खनिज क्षेत्र-

ढवस बसेेंत्रष्कमबपउंसष्झढसपझ हंटर घाटी-कोयला

  • कोबार-तांबा, सीसा, सोना, चांदी, जस्ता

  • ब्रोकेन हिल-सीसा, चाँदी, जस्ता, एण्टीमनी, यूरेनियम

  • जिप्सलैंड सेल्फ-पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस

  • कंग आइलैंड-निकेल एवं टंगस्टन

  • एसएसडब्ल्यू के पोर्ट केम्बला एवं न्यू कैसिल में लोहा-इस्पात के कारखाने हैं।

  • ट्रांस (हाल) ऑस्ट्रेलियन रेलमार्ग (पर्थ एडिलेड, पोर्ट (बंदरगाह) प्रियरी) पर विश्व का सबसे सीधा 590 किमी. लंबा मार्ग बनाया गया है।

Developed by: