ब्राजील का भूगोल (Brazilian Geography) Part 3

Download PDF of This Page (Size: 217K)

जलवायु-

जलवायु विशेषता की दृष्टि से ब्राजील को निम्नांकित जलवायु प्रदेशों में बाँटते हैं-

  • उष्ण-आर्द्र जलवायु प्रदेश/आमेजन बेसिन/विषुववृत्तीय जलवायु प्रदेश-यह प्रदेश 50 एन (उत्तर) अक्षांश से 100 साउथ (दक्षिण) अक्षांश के मध्य आमेजन की घाटी में विस्तृत है। वर्ष भर ऊँचा तापमान (औसत 270 c.)। ऊँची नमी एवं भारी वर्षा यहाँ की मुख्य विशेषता है। उच्च तापमान, घने वन, दलदली भूमि, जहरीले व अनेक प्रकार के घातक जीवो व कीटाणुओं आदि की अधिकता के कारण यह प्रदेश मानव बसाव के लिए अनुपयोगी रहा है। सिर्फ नदी तट एवं समुद्री तट पर ही कस्बे बसे हुए है। इसके पूर्वी भाग में परचाम्बुको राज्य में शुष्क जलवायु के कारण आबादी का घनत्व अधिक है। यहाँ का वार्षिक तापोत्तर 30 c तथा दैनिक तापान्तर 60 c तथा वर्षा 200-250 से.मी. अंकित की जाती है।

  • उष्ण कटिबंधीय आर्द्र शुष्क/सवाना जलवायु प्रदेश- विषुववृत्तीय प्रदेश की तुलना में इस प्रदेश में वर्षा कम होती है और विभिन्न महीनों में इसका वितरण असमान होता है। परिणामस्वरूप सघन वन के स्थान पर वृक्षयुक्त घास के मैदान पाए जाते है। ब्राजील के इस वृहद घास के मैदान को कंपोस कहते हैं। इस जलवायु का विस्तार अधिकांशत: पठारी भाग पर माटोग्रासों पारा, गोयस, बाहिया, पश्चिमी मिनास जेरास एवं पियायु राज्यों में हैं। शुष्क ऋतु 3 से 6 माह तक होती है। यहाँ पर वर्षा 80-150 से.मी के मध्य होती है। तापमान ग्रीष्मकाल में 280 c एवं शीतकाल में 200 c के आसपास तथा वार्षिक तापान्तर 60-80 c रहता है।

  • उष्ण कटिबंधीय अर्द्धशुष्क जलवायु प्रदेश- इस प्रकार की जलवायु विशेषत: उत्तर-पूर्वी ब्राजील में पेरानाम्बुका, सियरा, पियाऊ, रियो-गान्डे-डिनोटै पराइवा एवं सावोफ्रांसिक्को की मध्यवर्ती घाटी में पाई जाती है। यहाँ पर ग्रीष्मकाल में थोड़ी -बहुत वर्षा हो जाती है। मानसुनी हवा से अलग दिशा में रहने से वर्षा कम एवं अविश्वसनीय रहती है। वर्षा की मात्रा 50-60 से.मी के आसपास ही रहती है। सिर्फ उच्च भागों में ही कहीं-कहीं अधिक वर्षा हो जाती है। यहाँ पर इसी कारण संशोधित-सवाना तुल्य (bsh) जलवायु पायी जाती है। यहां पर तापमान वर्ष भर 250 c -270 c के मध्य रहते हैं। यहाँ पर घास, कटिंगा नामक कँटीली झाड़ियाँ शुष्कता सहने वाले पौधे (xerophytes) (मरुभ्दिद) मुख्यत: पाए जाते हैं।

  • उपोष्ण कटिबंधीय आर्द्र जलवायु/चीन तुल्य जलवायु प्रदेश-ब्राजील में इस जलवायु प्रदेश का विस्तार मकर रेखा से देश की दक्षिणी सीमा तक दक्षिणी पराना, सान्ता कैटरिना और रियो. ग्राण्डेडि सुल राज्यों में साओ पोलों से दक्षिणी सिरे तक अंध महासागर तटीय भाग एवं उसके पृष्ठ प्रदेश में है। इस भाग में ग्रीष्म ऋतु उष्ण एवं आर्द्र होती है। ग्रीष्म काल का औसत तापमान 260 c और शीतकाल का औसत तापमान 150 c रहता है। औसत वार्षिक वर्षा 100-175 से.मी. होती है। वर्षा वर्ष भर किन्तु ग्रीष्मकाल में अधिक होती है।

  • उच्च पठारी शीतोष्ण जलवायु प्रदेश-इस प्रकार की जलवायु ब्राजील के पठार पर फैली पहाड़ी श्रेणियों पर पाई जाती है। इसका विस्तार 200 साउथ (दक्षिण) से 300 साउथ अक्षांशों के मध्य हैं। अत: यह उष्ण, शीतोष्ण एवं अर्द्ध-उष्ण प्रदेश में तो स्थित है, किन्तु 1200 मीटर तक ऊँचे भाग होने से वास्तव में शीतोष्ण जलवायु ही प्रभावी होती है। यहाँ पर ग्रीष्मकाल में सबसे अधिक वर्षा एवं तापमान 220 c रहता है। शीतकाल में भी यह 120 c -150 c रहते हैं। इसमें साओपोना, दक्षिण-पूर्व मिनास जेरास, पराना राज्य एवं निकटवर्ती पहाड़ी भाग आते हैं।

types of climate of brazil

Map of Climate of Brazil

types of climate of brazil