चीन का भूगोल (Geography of China) Part 5

Download PDF of This Page (Size: 176K)

  • पर्वतीय पठार बेसिन-चीन के 16 प्रतिशत क्षेत्रफल पर पर्वतीय -पठार बेसिन का विस्तार पाया जाता है प्रमुख हैं-

  • जेयवान बेसिन- चीन की बेसिनों में यह सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। यह बेसिन जेयवान प्रदेश के पूर्वी भाग में स्थित है। इस बेसिन में अनेक नदियाँ प्रवाहित होती हैं, जिनके दव्ारा निक्षेपित मिट्‌टी उपजाऊ है।

  • सैदाम बेसिन- सैदाम का अंतर्प्रवाही बेसिन तिब्बत पठार के उत्तर-पश्चिम में फेला अपेक्षाकृत लघु बेसिन हैं जिसका धरातल 2700 मी ऊँचा है। इस बेसिन के उत्तर-पश्चिम में अल्टाइन ताज, उत्तर-पूर्व में नानशान और दक्षिण में कुतलुन श्रेणियाँ है। यह बेसिन दलदली है।

  • तारिम बेसिन- यह पठार जैसा ऊँचा है। इसी बेसिन से प्रसिद्ध तकला महान मरुस्थल है। इस बेसिन में चीन की सबसे लंबी अंतर्प्रवाही नदी तारिम नदी बहती है। इस बेसिन के उत्तर से तियेनशान, दक्षिण में अल्टाइनताघ और पश्चिम में पामीर पर्वतीय गुम्फन है। इन हिमाच्छादित पर्वतों से निकलने वाली नदियाँ बालू और कंकड़ भरी इस बेसिन के मध्य में स्थित निर्जन एवं वीरान तकला मकान मरुभूमि में विलुप्त हो जाती है।

  • जुंगारिया बेसिन- इसके उत्तर-पूर्व में अल्टाई पर्वत (जो इसे बाह्य मंगोलियां से पृथक करता है। दक्षिण मेे तियेनगान पर्वत है। तियेनगान के उत्तरी छोर से इसी बेसिन से होकर प्राचीन रेशम मार्ग की एक प्रशाखा गुजरती थी।

तारिम और जुंगारिया बेसिनों को सम्मिलित रूप से सिक्यांग बेसिन कहा जाता है।

  • वृहद नदीकृत मैदान-यहाँ पांच प्रमुख नदीकृत मैदान हैं-

  • ह्यांगहो मैदान-तिब्बत के पठार से निकलकर ह्यांगहो नदी इनगान पर्वत की उत्तरी और शिलिंग की मध्य धुरियों के बीच में प्रवाहित होती हैं और उत्तरी चीन के मैदान का निर्माण कर समुद्र में गिरती है।

  • सीक्यांग मैदान-सीक्यांग नदी यूनान पठार से निकलकर पूर्व में नानलिंग के क्वांगसी और क्वांगतुंग क्षेत्रों से प्रवाहित होती है और अपेक्षाकृत छोटे मैदान का निर्माण करती है।

  • उत्तरी-पूर्वी (मंचूरियायी) मैदान-इस मैदान का धरातल उबड़-खाबड़ है। इस मैदान के पश्चिम में तागिंगन पर्वत, उत्तर में शिआओ हिंगन और पूर्व में पूर्वी मंचूरिया पर्वत है। दक्षिण में जेहोल पर्वत आदि समुद्र है। मध्यवर्ती समतल और निम्न मैदान दव्ारा यह प्रदेश उत्तरी (सुंगारी बेसिन) और दक्षिणी (लिआवो बेसिन) में विभक्त है।

  • दक्षिणी-पूर्वी सम्प्राय मैदान- योग्टीसी और सीक्यांग बेसिनों के निचले भागों के मध्य नदी अपरदन दव्ारा निर्मित सम्प्राय मैदान फैला है, जिसमें गहरी खड़ी ढाल वाली घाटियाँ है।