जापान का भूगोल (Geography of Japan) Part 1

Download PDF of This Page (Size: 180K)

जापान की बुनियादी जानकारी

क्षेत्रफल-

  • अक्षांश- 300 नार्थ (उत्तर)-450 300 नार्थ (उत्तर)

  • देशांतर-1290 ईस्ट-1490 ईस्ट (पूर्व)

  • जनसंख्या-12.6 करोड़

  • जनसंख्या घनत्व-329 पर कि.मी.2

  • राजधानी-टोकियो

  • जापान को वेस्ट (पश्चिम) ऑफ (का) द (यह) ईस्ट (पूर्व) कहा जाता हैं।

  • डडलें स्टैंप ने जापान को ब्रिटेन ऑफ (का) द (यह) ईस्ट (पूर्व) कहा है।

  • लैंड (भूमि) ऑफ (का) द (यह) राइजिंग (उगते) सन (सूर्य)।

स्थिति एवं विस्तार-

एशिया महादव्ीप के पूर्वी भाग में स्थित जापान प्रशांत महासागर में चाप की आकृति में फैला हुआ एक महत्वपूर्ण देश है। जापान की भौगोलिक अवीयति विनाशात्मक प्लेट (पठार) सीमान्त में है। इसके सभी दव्ीप बेनी ऑफ जोन से आने वाले मैग्मा से बने है, अत: यहाँ ज्वालामुखी और भूकंप आते रहते हैं। जापान में 196 सुषुप्त तथा 54 जागृत ज्वालामुखी है। जापान के प्रमुख दव्ीपों का क्षेत्रफल निम्न है-

Japan's Prime Island
description of japan's prime island

दव्ीप

क्षेत्रफल

कुल क्षेत्रफल का प्रतिशत

जनसंख्या

ढवस बसेेंत्रष्कमबपउंसष्झढसपझ होकैडो

83,408 किमी2

21

56 लाख

होन्शु

2,30,110 किमी2

61

997 लाख

क्यूशू

42,144 किमी2

11

133 लाख

शिकोकू

18,795 किमी2

5

42 लाख

अन्य दव्ीप

2,270 किमी2

2

12 लाख