जापान का भूगोल (Geography of Japan) Part 15

Download PDF of This Page (Size: 380K)

कानमान औद्योगिक प्रदेश/ नागासाकी-मौजी प्रदेश- क्यूशू दव्ीप के उत्तरी भाग में विस्तृत इस प्रदेश को किता-क्यूशू प्रदेश भी कहा जाता है। यह जापान का चौथा बड़ा औद्योगिक प्रदेश है। यह औद्योगिक प्रदेश समीपवर्ती चिकूहो कोयला क्षेत्र पर निर्भर करता है। अत: यहाँ भारी उद्योगों की प्रधानता है। यहाँ जापान का आधा इस्पात और तीन-चौथाई (75 प्रतिशत) ढलुआँ लोहा तैयार होता है। इस प्रदेश से जापान के कुल औद्योगिक उत्पादन का 15 प्रतिशत भाग उत्पादन किया जाता है। इस प्रदेश के प्रमुख औद्योगिक केन्द्र नागासाकी, यवाटा, फूकोका, मौजी इत्यादि हैं। यवाटा में जापान का सबसे पहला लोहा तथा इस्पात का कारखाना खुला था। इस प्रदेश में जलयसन, वायुयान, रेलवे इस्पात, तथा डिब्बे, मशीन (यंत्र) एवं पुर्जे, परिवहन उपकरण, कृषि यंत्र इत्यादि बनाए जाते हैं। यवाटा जलयान निर्माण करने वाला विश्व का सबसे बड़ा केन्द्र है (ग्लासगो सेकण्ड) (दव्तीय)। नागासाकी जापान का दूसरा प्रमुख जलयान निर्माणक केन्द्र है। यह प्रदेश जापान के कुल जलयान निर्माण का 85 प्रतिशत जलयान बनाता हैं। अन्य उद्योगों में काँच का सामान, रासायनिक पदार्थ, सीमेण्ट, कागज उद्योग तथा तेल शोधन कार्य प्रमुख हैं।

introduction of Nagasaki region

Nagasaki Region

introduction of Nagasaki region