जापान का भूगोल (Geography of Japan) Part 16

Download PDF of This Page (Size: 237K)

जापान के अन्य नगर तथा औद्योगिक केन्द्र-

दक्षिणी होकैडो प्रदेश- यह जापान के कुल औद्योगिक उत्पादन का 5 प्रतिशत माल तैयार करता है। मछली पकड़ना यहाँ का प्राचीन एवं प्रमुख उद्योग है। मुरोरान तथा हैंकोडेट सबसे अधिक, विकसित औद्योगिक केन्द्र हैं। मुरेरान लोहा -इस्पात उद्योग का प्रमुख केन्द्र है, जिसे इशीकारी क्षेत्र से कोयला मिलता है। मुरोरान में तेलशोधक और सीमेण्ट के कारखाने भी हैं। सपोरो, वैनिशा -लोहा इस्पात

introduction of Southern Hokkaido region

Southern Hokkaido Region

introduction of Southern Hokkaido region

  • अकीता- यह उत्तरी होन्शू के पश्चिमी तट पर स्थित नगर है। यहाँ कागज, खाद तथा तेल शोधन उद्योग के केन्द्र हैं।

  • निगाता- होन्शू के पश्चिमी तट पर स्थित है। यहाँ तेल शोधन, खाद, मशीन तथा कल-पुर्जे निर्माण के केन्द्र हैं।

  • फुकुई- होन्शू के पश्चिमी तट पर है। यह रेयॉन उत्पादन के लिए विख्यात है। इसके अतिरिक्त यहाँ पर रसायन, वस्त्र और मशीनरी उद्योग का विकास हुआ हे।

  • कनाजावा- फुकुई के उत्तर में स्थित यह नगर मशीनरी उद्योग के लिए प्रसिद्ध हैं।

  • कामैशी- उत्तरी होन्शू के प्रशांत पर स्थित यह क्षेत्र है जिसमें स्थानीय खनिजों पर आश्रित उद्योग स्थापित हैं। कामैशी में स्थित लोहा-इस्पात कारखाने को सेण्डाई की खानों से लौह अयस्क प्राप्त होता है।

  • सेण्डाई- यहाँ रबड़, इस्पात और मत्स्योद्योग विकसित हैं।

  • हिरोशिमा-दक्षिणी होन्शू में आंतरिक सागर के तट पर स्थित यह भी जापान के वृहत्तम बंदरगाहों में से एक है।