दक्षिण अफ्रीका का भूगोल (Geography of South Africa) Part 9

Download PDF of This Page (Size: 202K)

जनसंख्या-

यह विविध समाजों का देश है। यहाँं अनेक जाति, धर्म के लोग रहते हैं। यहांँ रहने वाली जनसंख्या को तीन भागों में बांटते हैं-

  • यूरोपीय मूल के लोग- इसमें सर्वाधिक डच हैं। कुल यूरोपीय जनसंख्या का 52 प्रतिशत डच, 42 प्रतिशत ब्रिटिश तथा 6 प्रतिशत भाग में अन्य लोग है। ये मुख्यत: केप प्रांत में रहते है। इसके अलावा ट्रांसवाल तथा ओरेंज फ्री स्टेट में भी ये रहते हैं।

  • जनजाति प्रमुख हैं- जूलू, बान्ट, होटेन्टोस तथा बुशमैन। बान्ट वेल्ड प्रदेश में रहते हैं। जूलू, जूलूलैंड में रहते हैं, जो उत्तर-पूर्व में अव्यवस्थित है। होटेन्टोस मरुस्थलीय क्षेत्र में रहते हैं। बुशमैन अर्द्धमरुस्थलीय तथा बुशलैंड में रहते है। वेल्ड प्रदेश के पठारी भाग में भी बुशमैन रहते हैं।

description of prominent tribes of south africa

Prominent Tribes of South Africa

description of prominent tribes of south africa

मिश्रित-मिश्रित जाति को coloured (रंगीन) जनसंख्या कहते है। पूर्वी तटीय क्षेत्र में भारतीय मूल के लोगों की प्रधानता है। यहांँ पूरी जनसंख्या का 35 प्रतिशत भाग नगरों में रहता है। नगरों में मुख्यत: यूरोपीय तथा भारतीय मूल के लोग बसे हैं।जोहान्सबर्ग इस देश का सबसे बड़ा नगर है जिसकी आबादी 15 लाख है। इसे rand (हाशिया). Urbanise (नगरीकरण) area (क्षेत्र) कहते हैं। दूसरा बड़ा नगर केपटाउन (12 लाख) है। यह इस देश का सबसे बड़ा बंदरगाह है। यहाँ 80 प्रतिशत आबादी यूरोपीय मूल के लोगों की है तीसरा बड़ा नगर उरबन (10 लाख) है, जिसमे एक-तिहाई जनसंख्या भारतीय मूल के लोगों की है। यह भारतीय और मिश्रित जनसंख्या का नगर है। चौथा बड़ा नगर प्रिटोरिया (6 लाख) हैं, जिसमें यूरोपीय मूल के लोग अधिक है। इसके बाद क्रमश: पोर्ट एलिजा बेथ (5 लाख) तथा पोर्ट ईस्ट तानून (5 लाख) बड़े नगर है, जिसमें मिश्रित जनसंख्या रहती है।

सर्वाधिक जनसंख्या 40 प्रतिशत केप प्रांत में 20 प्रतिशत नेटाल में तथा अन्य 30 प्रतिशत जनसंख्या पठारी और घास के मैदानी क्षेत्रों में रहती है।