विश्व के प्रमुख प्राकृतिक प्रदेश (Major Natural Areas of the World) Part 11

Download PDF of This Page (Size: 173K)

टैगा प्रदेश:-

स्थिति एवं विस्तार-

  • इस प्रदेश का विस्तार सिर्फ उत्तरी गोलार्ध में 450 से 700 अक्षांशों के बीच पाया जाता है। इसके अंतर्गत दो क्षेत्र आते हैं-

  • उत्तरी अमेरिका में अलास्का से कनाडा तक का क्षेत्र

  • यूरेशिया में स्वीडन से साइबेरिया तक का क्षेत्र

जलवायु विशेषताएँ-

  • साइबेरिया में सर्वाधिक विस्तार होने के कारण इस प्रदेश की जलवायु को साइबेरिया तुल्य जलवायु भी कहा जाता है।

  • इस प्रदेश में ग्रीष्म ऋतु छोटी (3-4 महीना) एवं शीत ऋतु काफी लंबी (8-9 महीना) होती हैं।

  • संसार में सर्वाधिक वार्षिक तापांतर (550 c ) इसी प्रदेश में पाया जाता हैं।

  • कुल वर्षा 25 से. मी. से 50 से.मी के बीच होती हैं। वर्षा सालोभर होती हैं। ग्रीष्म ऋतु में वर्षा अधिक होती है। जाड़े में हिमपात होता है। वर्षा मुख्यत चक्रवातीय होती हैं।

प्राकृतिक वनस्पति-

  • यहां की प्रमुख वनस्पति कोणधारी वन है, जिसे टैगा वनस्पति या बोरियल के नाम से जाना जाता है।

  • वृक्षों की लकड़ियां मुलायम एवं पत्तियां नुकीली होती हैं।

  • ये वन आर्थिक दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है, अत: इन वनों का पर्याप्त विदोहन हुआ है।

  • साइबेरिया में भूमि दलदली होने के कारण यातायात के साधनों का कम विकास हुआ है अत: यहाँ वनों की समुचित कटाई नहीं हुई है।

आर्थिक विकास-

  • अत्यधिक ठंड के कारण इस प्रदेश की जनसंख्या अत्यंत ही विरल है।

  • इस प्रदेश के लोगों का मुख्य व्यवसाय शिकार करना, मछली पकड़ना एवं लकड़ी काटना हैं।

  • यूरोप एवं कनाडा के इन प्रदेशों में वन संबंधी उद्योगों धंधों का विकास हुआ है, जैसे लकड़ी चीरना, कागज तैयार करना, फर्नीचर (लकड़ी का सामान) बनाना आदि।

  • इस प्रदेश में जलशक्ति का भी पर्याप्त विकास हुआ है।

  • यह प्रदेश खनिज पदार्थो की दृष्टि से भी धनी हैं। सोवियत संघ के टैगा क्षेत्र में मिनी नामक एक नगर बताया गया है, जो सोवियत हीरा उद्योग का एक महत्वपूर्ण केन्द्र है।