विश्व के प्रमुख प्राकृतिक प्रदेश (Major natural areas of the world) Part 5

Download PDF of This Page (Size: 181K)

भू. मध्य सागरीय/रुस सागरीय प्रदेश:-

स्थिति एवं विस्तार -

  • इस प्राकृतिक प्रदेश का विस्तार भूमध्यसागर के तटवर्ती क्षेत्रों के अलावा महीदव्ीपों के पश्चिमी तटो ंपर 300 से 450 अक्षांश रेखाओं के बीच पाया जाता हैं।

  • इसके अन्तर्गत पुर्तगाल, स्पेन, दक्षिणी फ्रांस, इटली, यूगोस्लाविया; ग्रीस, तुर्की, सीरिया, इजराइल, लीबिया, टूयूनिशिया, अल्जीरिया एवं मोरक्को के तटवर्ती क्षेत्र, द. प. दक्षिण अफ्रीका मध्यवर्ती कैलीफोर्निया मध्य चिली एवं आस्ट्रेलिया के दक्षिणी एवं दक्षिणी-पश्चिमी भाग आते हैं।

जलवायु विशेषताएँ-

  • इस प्रदेश में गर्मी का औसत तापमान 200 c - 260 c के बीच रहता है एवं जाड़े का औसत तापमान 50 c - 150 c के बीच रहता हैं।

  • इस जलवायु प्रदेश का संबंध सूर्य के उत्तरायण एवं दक्षिणायण के फलस्वरूप दाब कंटिबंधों एवं पवन पेटियों के स्थानांतरण से हैं

  • गर्मी के दिनों में वाणिज्य पवन की पेटी ध्रुवो की ओर (उत्तर में) खिसक जाती है जिसके कारण यह प्रदेश वाणिज्यिक हवाओं के प्रभाव में आ जाता है जो स्थल भाग से आती हैं अत: शुष्क होती हैं।

  • जाड़े के दिनों में यह क्षेत्र पछुवा पवनों के प्रभाव में आ जाता है, जो समुद्र से आती है अत: वर्षा लाती हैं। (जाड़े में वर्षा, आर्द्र)

  • इस प्रदेश का समुद्री तट ठंडी जल धाराओं से प्रभावित होता हैं।

  • कुल वार्षिक वर्षा 40-80 से. मी. होती हैं। मुख्यत: चक्रवर्तीय

प्राकृतिक वनस्पति एवं जीव जन्तु-

  • इस प्रदेश में वृक्षों की ऊँचाई कम होती हैं पत्तिया छोटी एवं मोटी होती हैं। जड़ें लंबी एवं छाल मोटी होती है जिसके कारण वृक्ष शुष्कता को सहन करते हुए सदाबहार बने रहते हे।

  • मुख्स वनस्पति झाड़ियां एवं छोटे वृक्ष हैं। नींबू, नारंगी, अंगुर, जैतून आदि रसदार फलों की खेती होती हैं।

  • यहां मछली, चैपरेल, लॉरेल, कैकटस आदि पौधे पाए जाते हैं। ऐसी झाड़ियों को अल्जीरिया में मैक्वीस कहते हैं। कैलीफार्निया में इन्हें चैपरेल कहा जाता है। इस प्रदेश की सुगंधित जड़ी बूटियां में लैवेण्डर (एक फूल, जो हल्का बैंगनी रंग को होता है) सर्वाधिक महत्वपूर्ण हैं। भूमध्यसागर स्थित कोर्सिका दव्ीप को ”the (वह) scented (सुगंधित) Island” (टापू) कहा जाता हैं।

  • यहांँ चारागाह के अभाव में गाय भेंस काफी कम पाई जाती हैं भेंड़ बकरियों को छोड़कर अन्य पशुओं का अभाव पाया जाता है। रेशम के कीड़े खूब पनपते हैं।

आर्थिक विकास-

  • इस प्रदेश का मुख्य व्यवसाय कृषि हैं। जौ, गेहूं, मक्का एवं तंबाकू इस प्रदेश की प्रमुख फसल हैं।

  • यह प्रदेश अंगूर, अंजीर, नारंगी, नींबू, सेव, नासपती, आडू, खुबानी, शहतुत, बादाम जैसे फलों के लिए प्रसिद्ध हैं। यह प्रदेश रसदार फलों के लिए विश्व विख्यात हैं। यहां से फल एवं मेवे का बड़े पैमाने पर निर्यात किया जाता हैं।

  • इस प्रदेश में फलों पर आधारित उद्योग धंधों का पर्याप्त विकास हुआ है। रेशम तैयार करना एवं जैतून से तेल निकालने का कार्य भी बड़े पैमाने पर किया जाता हैं।

  • इस पद्रेश की जलवायु आनंददायक है। फिल्म उद्योगों के विकास का यह एक महत्वपूर्ण कारण हैं।

  • इस प्रदेश में पेट्रोलियम (कैलीफार्निया) सोना, गंधक (इटली) लोहा (स्पेन) जैसे खनिज भी पाए जाते हें।