विश्व के प्रमुख प्राकृतिक प्रदेश (Major natural areas of the world) Part 8

Download PDF of This Page (Size: 175K)

पश्चिमी यूरोपीय प्रदेश:-

स्थिति एवं विस्तार-

  • इसका विस्तार 450 से 600 अक्षांशों के बीच महादव्ीपों के पश्चिमी तटों पर पाया जाता हैं। इसके अंतर्गत निम्नलिखित प्रदेश हैं-

  • पश्चिमी यूरोप

  • उत्तरी अमेरिका में ब्रिटिश कोलंबिया तथा उ. प. यू.एस.ए.

  • दक्षिण चिली

  • न्यूजीलैंड एवं तस्मानिया

जलवायु विशेषताएँ-

  • इस प्रदेश में सालोभर समुद्र का प्रभाव बना रहता है, अत: यहां न तो जाड़े में अधिक जाड़ा और न गर्मी में अधिक गर्मी पड़ती हैं। वार्षिक तापांतर कम (80 c से 120 c तक) होता हैं। कहीं-कहीं हिमपात होता हैं।

  • यहाँ सालोभर पछुवा पवन चलते हैं, जो समुद्र से गर्म जलधाराओं को पार कर आते हैंं अत: वर्षा सालोभर होती हैं। आकश सदैव बादलों से ढका रहता हैं। वर्षा अधिकांशत: फुहारों के रूप में होती हैं। यह वर्षा चक्रवातीय एवं पर्वतीय दोनों प्रकार की होती हैं।

प्राकृतिक वनस्पति-

  • इस प्रदेश की प्राकृतिक वनस्पति शीतोष्ण पतझड़ के वन हैं। वृक्षों की पत्तियाँं चौड़ी होती हैं। ये वृक्ष सर्दी एवं पाले से बचने के लिए जाड़े में अपनी पत्तियां गिरा देते है। ओक, बीच, मैपल, एम, बर्च आदि वृक्ष पाए जाते हैं।

  • आर्द्र भागों में अच्छे प्रकार की घास उगती है, जो पशुओं के लिए उत्तम चारागाह हैं।

आर्थिक विकास-

  • कृषि, उद्योग, वाणिज्य एवं व्यापार की दृष्टि से इन प्रदेशों का पर्याप्त विकास हुआ हैं। कारण, इस प्रदेश की जलवायु विश्व की सर्वाधिक स्वास्थ्यवर्द्धक एवं आनंददायक हैं। यह जलवायु शारीरिक एवं मानसिक दोनो ही प्रकार के कार्यो के लिए उपयुक्त हैं। अत: इसे प्रयास का क्षेत्र कहा गया हैं।

  • इस प्रदेश में कृषि के साथ-साथ पशुपालन का भी पर्याप्त विकास हुआ है। अत: मिश्रित कृषि इसकी विशेषता हैं।

  • तस्मानिया सेब की कृषि के लिए विश्व प्रसिदव् हैं।

  • समुद्री किनारा अत्यंत कटा छटा होने तथा सुरक्षित पत्तनों के कारण व्यापार भी अच्छी तरह होता हैं

  • डॉगर बैंक (अधिकोष) मत्स्य उत्पादन के लिए प्रसिदव् हैं।