भारत के राजनीतिक दल (Political parties of India) Part 4

Download PDF of This Page (Size: 140K)

भारतीय जनता पार्टी (दल)

भारतीय जनता पार्टी की स्थापना दिसंबर 1980 में हुई। यह भारतीय जनसंघ का ही एक नया और संशोधन रूप है। भारतीय जनसंघ की स्थापना श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने 1951 ई. में की थी। भारतीय जनता पार्टी अपने अनुशासन, संगठन एवं पारंपरिक सामाजिक-सांस्कृतिक हिन्दू संगठनों राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ एवं विश्व हिन्दू परिषद से संबंधित मामलों में जनसंघ जैसी ही लगती है। 1977 में जनसंघ के विघटित कर दिए जाने के कारण यह नवगठित जनता पार्टी का एक प्रमुख घटक बन गया। अटल बिहारी वाजपेयी और लाल कृष्ण आडवाणी जैसे जनसंघ के नेता जनता पार्टी के मंत्रिमंडल में मंत्री बनाए गए। 1980 के लोकसभा चुनाव में इस दल के पराजित होने के बाद पहले के जनसंघ के अधिकांश नेता जनता पार्टी से अलग हो गए और भारतीय जनता पार्टी नामक एक नए दल की स्थापना की।

भारतीय जनता पार्टी का मुख्य आधार समर्थन हिन्दी प्रदेश में ग्रामीण और नगरीय क्षेत्र के छोटे और मध्यम स्तर के व्यापारी और दुकानदार, पारंपरिक व्यावसायिक समुदाय के वैश्य तथा जैन तथा पारंपरिक राजनीतिक दृष्टिकोण में विश्वास रखने वाली जनता है। मध्यम स्तर के व्यवसायी और नौकरी पेश कार्मिकों के बीच भी इसके समर्थक हैं। विशेषतया 1977 से कुछ मामलों में इसका प्रभाव दक्षिण भारत के प्रदेशों केरल, कर्नाटक और आंध्रप्रदेश तक फैल गया।

1989 के चुनाव में इसे भारी सफलता मिली, जब इसने लोकसभा में 88 सीटों पर विजय प्राप्त की। 1997 एवं 1999 के चुनाव में यह अकेली सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी। अन्य दलों के सहयोग से इसने पहली बार 1997 में केन्द्र में अपनी सरकार बनायी। पर उसे सदन में बहुमत हासिल नहीं हो सकी। 1999 में भाजपा ने अन्य दलों के साथ मिलकर एनडीए का गठन किया एवं वाजपेयी के नेतृत्व में एक मिलीजुली सरकार बनी। इस सरकार ने अपना कार्यकाल पूरा किया। आज कई राज्यों में भाजपा की सरकारें हैं।