एयर (वायु) सेवा पोर्टल (दव्ार) (ंंंAir Services) for IAS

Get unlimited access to the best preparation resource for IAS : Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

Download PDF of This Page (Size: 159K)

सुर्ख़ियों में क्यों?

  • एयर सेवा पोर्टल सेवा नागरिक उड्डयन मंत्रालय दव्ारा आरंभ किया गया है। इसका उद्देश्य लोगों को कठिनाई रहित सेवा उपलब्ध कराना है।

विशेषताएं

  • यह इंटरैक्टिव (संवादमूलक) बेव पोर्टल (दव्ारा) एवं मोबाईल (गतिशील) वेब दोनों के दव्ारा संचालित की जाएगी।

  • इस पोर्टल (दव्ार) में शिकायत निवारण, कार्यालय स्थल पर शिकायत निवारण कार्यप्रणाली, उड़ानों की समय सारणी, हवाई अडवित रुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्र्‌ुरुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्रुरू डों से संबंधित जानकारी, तथा FAQs जैसी सुविधाएं उपलब्ध होगी।

  • पूरे नागरिक उड्डयन परितंत्र से संबंधित सारे हितधारकाेे को एक ही पटल पर लाने दव्ारा एयर (हवाई) सेवा पोर्टल (दव्ार) एक सुनियोजित पद्धति की व्यवस्था करता है।

  • सभी भागीदार एजेंसियों (शाखाओं) हेतु नोडल (प्रधान) अधिकारियों का चयन किया गया है। यह अधिकारी एक समय सीमा के भीतर शिकायतों का निपटारा करेंगे।

  • पोर्टल (दव्ार) के माध्यम से हवाई अडवित रुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्र्‌ुरुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्रुरू डों के संबंध में बुनियादी जानकारी, और हवाई अडवित रुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्र्‌ुरुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्रुरू डों से संबंधित सेवाएं, जैसे व्हीलचेयर (पहियेदारकुर्सी), परिवहन, पार्किंग (गाड़ी स्थान), वाई-फाई सेवा, कांटेक्ट (संपर्क) इनफार्मेशन (सूचना) आदि के संबंध में सूचना प्रदान की जाएगी।

भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण

  • यह 1995 में गठित एक सांविधिक निकाय है।

  • इसे देश में भूमि और वायु क्षेत्र दोनों में नागरिक उड्डयन के बुनियादी ढांचे के निर्माण, उन्नयन, रखरखाव और प्रबंधन की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

इंटरनेशनल (अंतरराष्ट्रीय) सिविल (नागरिक) एविएशन (विमानन) नेगोटिएशंस (वार्ता) (आईसीएएन)

  • आईसीएएन 2016 नसाऊ में आयोजित की गई।

  • इसमें भारत ने कई मुद्दों को सुलझाया जिनमें शामिल हैं-

  • ट्रैफिक (यातायात) राइटवित रुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्र्‌ुरुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्रुरू स (अधिकार) में वृद्धि

  • खुला आकाश समझौता: इसके अधीन 6 देशों जमैका, गुयाना, चेक गणराज्य, फिनलैंड, स्पेन और श्रीलंका के साथ खुला आकाश समझौता किया गया। इस समझौते के अंतर्गत भारत के छह महानगरों दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, कोलकाता, बैंगलुरू और चेन्नई स्थित हवाई अडवित रुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्र्‌ुरुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्रुरू डों तक असीमित संख्या में उड़ानों की अनुमति दी गई।

  • जमैका तथा गुयाना के साथ नए उड़ान सेवा समझौते किए गए।

  • कोड (संकेतावली) शेयर (हिस्सा) : इसके माध्यम से सीधी उड़ानों से रहित दूरस्थ स्थानों तक कनक्टिविटी (संयोजकता) संभव हो सकेगी, और यात्रियों को निर्बाध यात्रा की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

  • खुले आकाश का अभिप्राय ऐसे समझौते से है जिसमें दो देशों के मध्य असीमित उड़ानों, गंतव्य स्थानों, सीटों (आसनों) की संख्या तथा कीमतों के लिए प्रतिबंध रहित प्रावधान किये जाते है। हालांकि यह सामान्य परिभाषा है, वास्तविकता में कुछ प्रतिबंध सदैव विद्यामन रहते है।

Developed by: