भारत में भूमि और पशुधन स्वामित्व पर एन एस एस ओ की रिपोर्ट (Report of NSSO KI Land And Livestock Ownership In India – Economy)

Doorsteptutor material for UGC is prepared by world's top subject experts: Get detailed illustrated notes covering entire syllabus: point-by-point for high retention.

Download PDF of This Page (Size: 146K)

राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण कार्यालय (एनएसएसओ) ने अपने 70वें दौर (जनवरी 2013 से दिसंबर 2013) के सर्वेक्षण के तहत देश के ग्रामीण क्षेत्रों में भूमि और पशुधन स्वामित्व पर एक सर्वेक्षण किया है।

सर्वेक्षण के मुख्य निष्कर्ष

• भूमि और पशुधन स्वामित्व पर जारी इस रिपोर्ट में 2012-13 में लगभग 95 मिलियन हेक्टेयर भूमि को ऑपरेशनल होल्डिंग्स (परिचालन जोत/स्वामित्व) के रूप में वर्गीकृत किया गया है।

भूमि का पारिवारिक स्वामित्व-2002-03 की तुलना में 2012-2013 में प्रति परिवार के स्वामित्व वाले औसत क्षेत्र और परिवार के स्वामित्व वाले कुल अनुमानित क्षेत्र में कमी आई है।

• कृषि वर्ष जुलाई 2012 से जून 2013 के दौरान ग्रामीण भारत में परिवारों के स्वामित्व वाला कुल अनुमानित क्षेत्र 92.3 मिलियन हेक्टेयर था और प्रति परिवार स्वामित्व वाला औसत क्षेत्र 0.592 हेक्टेयर था।

• ग्रामीण परिवारों में सीमांत भूमि धारकों का अनुपात सबसे ज्यादा (75.42प्रतिशत) था, जबकि बड़े भूमि धारकों का अनुपात सबसे कम (0.24 प्रतिशत) था। कुल ग्रामीण परिवारों में 7.41 प्रतिशत भूमिहीन वर्ग से थे।

Developed by: