मलेरिया के उन्मूलन के लिए राष्ट्रीय फ्रेमवर्क (ढाँचा) (National Framework For The Elimination of Malaria – Social Issues)

Download PDF of This Page (Size: 173K)

• स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने मलेरिया उन्मूलन के लिए राष्ट्रीय फ्रेमवर्क 2016-2030 का शुभारंभ किया है, जो वर्ष 2030 तक इस रोग के उन्मूलन के लिए भारत की रणनीति को निर्धारित करेगा।

उद्देश्य

• सभी निम्न (श्रेणी 1) और मध्यम (श्रेणी 2) प्रभावित राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से वर्ष 2022 तक मलेरिया का उन्मूलन।

• सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों और जिलों में प्रति 1000 लोगों पर मलेरिया के मामलों को एक से भी कम करना तथा वर्ष 2024 तक 31 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से मलेरिया का उन्मूलन।

• वर्ष 2027 तक सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों (श्रेणी 3) में मलेरिया के संक्रमण को रोकना।

• जिन क्षेत्रों से मलेरिया खत्म हो गया है उन क्षेत्रों में मलेरिया के पुन: संक्रमण की रोकथाम तथा वर्ष 2030 तक देश को मलेरिया मुक्त बनाना।

रणनीतिक दृष्टिकोण

• मलेरिया की प्रभावशीलता देश के विभिन्न भागों में भिन्न-भिन्न होने के कारण चरणबद्ध कार्यक्रम पर विचार किया गया है।

• एपीआई (annual parasite incidenc) को वर्गीकरण का प्राथमिक आधार मानते हुए राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों का वर्गीकरण (श्रेणी 0:पुन: संक्रमण की रोकथाम; श्रेणी 1: उन्मूलन चरण; श्रेणी 2: उन्मूलन पूर्व -चरण; श्रेणी 3: त्वरित नियंत्रण चरण) किया गया हैं।

• कार्यक्रम से संबंधित योजना के निर्माण और कार्यान्वयन की इकाई जिला होगा।

• अति प्रभावित स्थानीय क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करना; और पी. वाईवैक्स के उन्मूलन के लिए विशेष रणनीति।