Indian Geography MCQs in Hindi Part 110 with Answers

Dr. Manishika Jain- Join online Paper 1 intensive course. Includes tests and expected questions.

1 निम्नलिखित में से कौन-से कारक तापमान विषमता के लिये उत्तरदायी हैं?

ढवस बसेेंत्रष्कमबपउंसष्झढसपझ अक्षांशीय वितरण

  • ऊँचाई
  • स्थल व जल का प्रभाव
  • समुद्री धाराएँ
  • प्रचलित वायु

नीचे दिये गए कूट की सहायता से सही उत्तर का चुनाव करें:

अ) केवल 1,2 और 3

ब) केवल 2,3 और 4

स) केवल 3,4 और 5

द) 1,2, 3,4 और 5

उत्तर: (द)

2 तापमान व्युत्क्रमण तथा प्रतिलोमन के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

ढवस बसेेंत्रष्कमबपउंसष्झढसपझ ऊपरी भाग में ठंडी एवं निचले भाग में गर्म वायु होने के कारण तापीय विलोमता की स्थिति उत्पन्न हो जाती है।

  • तापमान प्रतिलोमन स्वच्छ आकाश, शुष्क हवा तथा मंद समीर की स्थिति में प्रभावी होता है।
  • घना कोहरा प्रतिलोमन प्रक्रिया का ही परिणाम है।

उपर्युक्त कथनों में कौन सा/से सही है/हैं?

अ) केवल 1

ब) केवल 1 और 2

स) केवल 3

द) केवल 2 और 3

उत्तर: (द)

3 ‘जाड़े की रात्रि में पर्वतीय ढलानों के ऊपरी भाग ठंडे रहते हैं, इसके विपरीत घाटी में तापमान उच्च पाया जाता है’ ।

उपर्युक्त प्रक्रिया वायुमंडल की किस परिघटना से संबंधित है?

अ) तापमान प्रतिलोमन

ब) तापमान विसंगति

स) रूद्धोष्म हाथ परिवर्तन

द) क्षैतिज उष्मा संतुलन

उत्तर: (अ)

Developed by: