नेशनल (राष्ट्रीय) इंडस्ट्रियल (औद्योगिक) कॉरिडोर (गलियारा) डेवलपमेंट (विकास) एंड (तथा) इम्प्लीमेंटेशन (कार्यान्वयन) ट्रस्ट (संस्था) (एनआईसीडीआईटी) (National Industrial Corridor Development Implementation Trust)

Download PDF of This Page (Size: 132K)

  • सरकार ने दिल्ली मुंबई इंडस्ट्रियल (औद्योगिक) कॉरिडोर (गलियारा) -प्रोजेक्ट (परियोजना) इम्प्लीमेंटेशन (कार्यान्वयन) ट्रस्ट (संस्था) फंड (निधि) (डीएमआईसी-पीआईटीएफ) के विस्तार के शासनादेश/आदेश को स्वीकृति प्रदान कर दी है। साथ ही नेशनल इंडस्ट्रियल कॉरिडोर डेवलपमेंट एंड इम्प्लीमेंटेशन ट्रस्ट (एनआईसीडीआईटी) के रूप में इसे पुन:स्थापित किया गया है।

  • एनआईसीडीआईटी, औद्योगिक नीति और संवर्धन विभाग (डीआईपीपी) के प्रशासनिक नियंत्रण के अंतर्गत एक शीर्ष निकाय है। इसका कार्य निम्नलिखित इंडिस्ट्रयल (औद्योगिक) कॉरिडोर (गलियारा) का संयोजित तथा संयुक्त विकास करना है:

    ढवस बसेेंत्रष्कमबपउंसष्झढसपझ दिल्ली मुंबई इंडिस्ट्रयल कॉरिडोर (डीएमआईसी)

    • चेन्नई बेंगलुरु इंडिस्ट्रयल कॉरिडोर (सीबीआईसी)

    • अमृतसर कोलकाता इंडिस्ट्रयल कॉरिडोर (एकेआईसी)

    • बेंगलुरु मुंबई इंडिस्ट्रयल कॉरिडोर (बीएमआईसी)

    • विज़ाग चेन्नई इंडिस्ट्रयल कॉरिडोर (वीसीआईसी)

  • एनआईसीडीआईटी योजनाओं के विकास की गतिविधियों तथा योजनाओं के मूल्यांकन, अनुमोदन एवं संस्तुति में सहयोग करेगा।

  • यह इंडिस्ट्रयल (औद्योगिक) कॉरिडोर (गलियारा) प्रोजेक्ट्‌स (परियोजना) के विकास हेतु किये जा रहे सभी केन्द्रीय प्रयासों का समन्वय एवं निरीक्षण भी करेगा।

सभी राजमार्गो पर हरित क्षेत्र का विस्तार

  • सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे हरित क्षेत्र के विस्तार हेतु दो योजनाएं, अडॉप्ट (अपनाना) ए (एक) ग्रीन हाइवे (हरित राजमार्ग) और ’किसान हरित राजमार्ग योजना’ की शुरुआत की है।

  • ’अडॉप्ट ए ग्रीन हाइवे’ पहल के अंतर्गत कॉर्पोरेट, PSUs और NGOs राष्ट्रीय राजमार्ग के दोनों ओर के विस्तार (NH stretches) (हिस्सों) में वृक्षारोपण करने तथा रख-रखाव हेतु इसे 5 वर्ष के लिए अपने संरक्षण में ले सकते हैं।

  • ’किसान हरित राजमार्ग योजना’ के अंतर्गत एनएचएआई किसानों को राजमार्ग के किनारे उनके खेतों में वृक्षारोपण करने हेतु तकनीकी तथा वित्तीय सहायता प्रदान करेगा।