यू एस ए का भूगोल (Geography of USA) Part 4 for NTSE

Download PDF of This Page (Size: 311K)

रॉकी प्रदेश/पश्चिमी कॉर्डिलेरा- यह अलास्का से लेकर मैक्सिको तक विस्तृत है। यह पर्वतीय भाग तीन लंबे सामान्तर विभागों में विभक्त है- पूर्व में रॉकी पर्वत श्रेणी, पश्चिम में प्रशांत तट की श्रेणी और मध्य में अन्त: पर्वतीय पठार।

  • रॉकी पर्वतीय प्रदेश- यह पश्चिमी कार्डिलेरा की सबसे पूर्वी पर्वत श्रेणी है, जो आल्पस तथा हिमाचल के समकालीन है। यह मोड़दार/वलित पर्वत है। उत्तर में इसे ब्रूक्स रेंज, ऐंडीकोट रेंज, मेकेनिज माइन्स तथा दक्षिण (मैक्सिको) में ऐर्स्टन सिरा मोद्रे के नाम से भी पुकारते हैं। रॉकी का सर्वोच्च शिखर एलबर्ट (4398 मी.) हैं।

  • प्रशांत तट की पर्वत श्रेणियाँ - ये पश्चिमी कार्डिलेरा की सबसे पश्चिमी पर्वत श्रेणियां हैं, जिनका निर्माण रॉकी पर्वतश्रेणियों के पहले हुआ है। ये पर्वत दो सामान्तर श्रेणियों में मिलते हैं ओर उन श्रेणियों के बीच निम्न भूमि पाई जाती है, (जैसे- ग्रेट वेली ऑफ कैलिफोर्नियां, विलमेट वेली, पगेट साउंड) सबसे पश्चिमी पर्वत को तटीय पर्वतश्रेणियांँ कहा जाता है। प्रशांत तट की पूर्वी पर्वत श्रेणियों को उत्तर से दक्षिण में विभिन्न नामों से पुकारती हैं- अलास्का श्रेणी, सेल्कर्क श्रेणी, कास्केड श्रेणी, सियरा नेवाडा और पश्चिमी सियरा माड्रे (मैक्सिको) एमसी कीनली (6187 मी.), अलास्का श्रेणी स्थित उत्तरी अमेरिका की सबसे ऊँची चोटी है। यह एक ज्वालामुखी है। कास्केड श्रेणी ज्वालामुखी चटवित रुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्र्‌ुरुक्ष्म्ग्।डऋछ।डम्दव्रुरू टानों से बनी हैं।

  • अन्त: पर्वतीय पठार- पर्वत श्रेणियों से घिरे इस पठार को पाँच भागों में बांटा जा सकता हैं-

  • अलास्का पठार

  • कोलम्बिया पठार,

  • ग्रेट बेसिन पठार

  • कोलेरेडो पठार

  • मैक्सिको पठार

  • अलास्का पठार- यह अलास्का राज्य का उत्तरी भाग है। इसी पठार से होकर उत्तर गामिनी यूकन नदी बहती है, जो पश्चिम में चलकर बेरिंग सागर में गिर जाती है। इस नदी के नाम पर इसे यूकेन पठार भी कहते हैं। इसकी ढाल, पश्चिम की ओर है। समुद्र तट के निकट इसमें अनेक लैगून मिलते हैं।

  • कोलम्बिया पठार- यह अलास्का के दक्षिण में है। कनाडा में इसे ’ब्रिटिश कोलंबिया का पठार’ और संयुक्त राज्य अमेरिका में इसे ’कोलंबिया- स्नेक पठार’ कहते हैं। इसमें कई ज्वालामुखी पहाड़ मिलते है। इस पठार पर लगभग 700 मी. मोटा लावा निक्षेप मिलता है। इसके पूर्वी भाग में यहां का प्रसिद्ध यलो (पीला) स्टोन (पत्थर) नेशनल (राष्ट्रीय) पार्क मिलता है। विश्व प्रसिद्ध ओल्ड (पुराना) फेथफूल (वफादार) नामक ग्रेसियर (हिमनद) इसी पार्क में है।

  • ग्रेट (महान) बेसिन - यह समतल न होकर कट छँटकर ऊँचा नीचा हो गया है। यह बेसिन महास्थलीय दृश्य उपस्थित करता है। इसकी कोई नदी समुद्र तक नहीं जाती। दूसरे शब्दों में ग्रेट बेसिन एक ’आंतरिक प्रवाह क्षेत्र’ है। इसमें कई झीलें हैं, जिनमें सबसे बड़ी ग्रेट (महान) सेल्ट (कुल्हाडी जैसा पुरान हथियार) लेक (झील) है। दक्षिण पश्चिम में यह काफी नीचा हो गया है, समुद्रतल से भी 150 मी. नीचा। यह निम्न भाग कैलिफोर्नियां के द. पू. में है और डेथ वेली (मृत घाटी) के नाम से प्रसिद्ध हैं।

  • कोलोरेडो पठार- यह ग्रेट बेसिन के दक्षिण में है। वासाच पहाड़ इसे ग्रेट बेसिन से अलग करता है। इसका धरातल बालू पत्थर और चुना पत्थर से निर्मित है। इस पठार की सर्वप्रमुख नदी कोलरेडो नदी है। सागर में सबसे गहरी (1800 मी.) और संकरी घाटी का निर्माण इसने ही किया है जो ग्रैंड कैनियन के नाम से प्रसिद्ध हैं।

  • मैक्सिको पठार- इसे ज्वालामुखी पठार भी कहते हैं।

    types of western colorado

    उंच व ूमेजमतद बवसवतंकव

    जलचमे व ूमेजमतद बवसवतंकव

profile of western cordillera

चतवपिसम व ूमेजमतद बवतकपससमतं

चतवपिसम व ूमेजमतद बवतकपससमतं

Developed by: