रामायण और कृष्ण परिपथ पर राष्ट्रीय समिति का गठन (Constitution of National Committee on Ramayana And Krishna Circuits – Social Issues)

Download PDF of This Page (Size: 194K)

• हाल ही में स्वदेश दर्शन योजना के अंतर्गत रामायण और कृष्ण परिपथ पर राष्ट्रीय समिति की प्रथम बैठक हुई।

स्वदेश दर्शन योजना

• यह संस्कृति व पर्यटन मंत्रालय दव्ारा देश में थीम (विषय) आधारित पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए प्रारंभ की गई।

• इस योजना के अंतर्गत 13 अलग-अलग थीम (विषय) आधारित पर्यटन परिपथों को विकसित किया जाएगा।

• जिनमें पूर्वोत्तर, हिमाचली, तटीय, कृष्ण, मरुस्थलीय, आदिवासी, पारिस्थितिक, वन्यजीवन, ग्रामीण, आध्यात्मिक, रामायण और कृष्ण परिपथ सम्मिलित है।

रामायण परिपथ

• यह परिपथ विभिन्न राज्यों में भगवान राम से संबंधित स्थानों को सम्मिलित करता है, लेकिन इसका प्रमुख क्षेत्र उत्तर प्रदेश है।

• इस परिपथ में छ: राज्यों में स्थित ग्यारह स्थलों को शामिल किया जाना प्रस्तावित है।

• जिनमें अयोध्या, नंदीग्राम, श्रृंगेबरपुर तथा चित्रकूट (उ. प्र. में), सीतामढ़ी, बक्सर तथा दरभंगा बिहार में, कर्नाटक में हंपी तथा तमिलनाडु में रामेश्वरम प्रमुख हैं।

कृष्ण परिपथ

• इस परिपथ में विभिन्न राज्यों के अंतर्गत भगवान कृष्ण से संबंधित स्थान शामिल हैं।

• इसमें पांच राज्यों के 12 स्थलों को शामिल करने का प्रस्ताव किया गया है।

• इस परिपथ में गुजरात का दव्ारिका, राजस्थान में नाथदव्ारा, जयपुर तथा सीकर, हरियाणा में कुरूक्षेत्र, उत्तर प्रदेश में मथुरा, वृंदावन, गोकुल बरसाना, नंदगांव तथा गोवर्धन तथा उड़ीसा में पुरी शामिल हैं।

Developed by: